भारत-सिंगापुर हैकाथन से प्रौद्योगिकी, युवा शक्ति को मिलेगा बढ़ावा : मोदी

सिंगापुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत-सिंगापुर हैकाथन के पहले छह विजेताओं को पुरस्कार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि यह मंच प्रौद्योगिकी, नवाचार व युवा शक्ति को बढ़ावा देगा। शीर्ष छह टीमों में से तीन भारत व तीन सिंगापुर से थीं। इन्हें अंतिम सत्र के बाद चुना गया था। भारत से विजेता टीम में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर (आईआईटी खड़गपुर), राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, तिरुचिरापल्ली (एनआईटी त्रिची) व एमआईटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग पुणे शामिल हैं। सिंगापुर की विजेता टीमों में नानयांग टेक्नोलॉजिकल विश्वविद्यालय (एनटीयू) व सिंगापुर डिजायन व प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (एसयूटीडी) शामिल हैं।

मोदी ने कहा, "सिंगापुर-भारत हैकाथन जैसे मंच हमारे युवाओं के कार्यो को दिखाने के लिए बेहतरीन मंच का कार्य करते हैं। ये दूसरे देशों व संस्थानों के युवाओं के नवाचार को सीखने के लिए भी मंच प्रदान करते हैं। यह हमारे छात्रों के लिए लाभकारी हैं। सिंगापुर व भारत की तीन-तीन विजेता टीमों के लिए प्रथम पुरस्कार 10,000 एसजीडी, दूसरा पुरस्कार 6,000 एसजीडी व तीसरे पुरस्कार 4000 एसजीडी की घोषणा की गई।

मोदी ने हैकाथन के विजेताओं से मिलने के बाद कहा कि वह दुनिया की समस्याओं को हल करने की उनकी प्रतिबद्धता व जोश से प्रभावित हैं। प्रधानमंत्री मोदी पूर्व एशिया शिखर सम्मेलन, आसियान-भारत अनौपचारिक बैठक व क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए दो दिवसीय दौरे पर बुधवार को सिंगापुर पहुंच थे।

Related Stories: