एससी-एसटी एक्टः कल सवर्णों का भारत बंद, कई इलाकों में धारा-144 लागू

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : एससी-एसटी एक्ट में किए गए संशोधन खत्म करने व इसे सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार लागू करने की मांग को लेेकर देश के विभिन्न तबकों ने कल यानि गुरुवार को भारत बंद का अह्वान किया है। देश का सवर्णों समाज ये बंद करणी सेना की अगुवाई में कर रहा है। इसके मद्देनजर देशभर में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। खास तौर पर मध्य प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों में सुरक्षा का खास ध्यान रखा गया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, मध्यप्रदेश के भिंड़, ग्वालियर, छतरपुर, रीवा, शिवपुरी समेत कई शहरों में धारा 144 लागू कर दी गई है। इस बंद के दौरान मध्य प्रदेश इसलिए अहम है, क्योंकि यहां के सवर्ण समाज के कई संगठन कई दिनों से सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि इस बंद को किसी सियासी दल से जोड़कर नहीं देखा जा रहा, क्योंकि प्रदर्शनकारियों के निशाने पर सत्तारूढ़ बीजेपी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस दोनों हैं।

मध्यप्रदेश में हालात बिगड़ने की संभावना इसलिए भी ज्यादा है, क्योंकि करणी सेना ने मंगलवार को ग्वालियर में रैली की और सीएम शिवराज के मुंह पर कालिख पोतने की धमकी दे डाली। इसके अलावा सतना में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का घेराव किया गया। मध्यप्रदेश के अलावा इस बंद का प्रभाव राजस्थान पर भी काफी हद तक पड़ सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि करणी सेना राजस्थान में अच्छा खासा प्रभाव रखती है। ऐसे में मध्यप्रदेश के साथ-साथ राजस्थान की बीजेपी सरकार के लिए भी ये बंद परेशानी का सबब बन सकता है। 

बता दें कि ये पूरा विवाद उस एक्ट को लेकर है जिसमें मोदी सरकार ने संशोधन कर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पलट दिया था। अब सवर्ण और ओबीसी समाज सरकार के फैसले के खिलाफ खड़ा हो गया है और विरोध बीजेपी कांग्रेस दोनों का हो रहा है। इस बात ये भी हर कोई वाकिफ है कि 2019 की शुरूआत के साथ ही लोकसभा चुनावों का भी आगाज हो जाएगा और इससे कुछ महीने पहले ऐसे विरोध होना बीजेपी के सिंहासन के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

Related Stories: