इमरान खान के दावों की भारत ने निकाली हवा, कहा- आतंकवाद का केंद्र है पाक

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत ने आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान के दोहरे मापदंड पर निशाना साधते हुए उसे 'आतंकवाद का केन्द्रÓ करार दिया और कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान यदि आतंकवाद के विरुद्ध गंभीर हैं तो उन्हें आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद और उसके सरगना मसूद अजहर के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। पुलवामा हमले के संदर्भ में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के बयान के कुछ ही देर बाद यहां विदेश मंत्रालय की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया है,  यह सर्वविदित तथ्य है कि जैश ए मोहम्मद और उसका नेता मसूद अजहर पाकिस्तान में है। कार्रवाई करने के लिए यह सबूत पर्याप्त है। इसमें कहा गया है कि आतंकवादी हमले और पाकिस्तान के बीच संबंध नहीं होने की बात ऐसा बहाना है जिसे पाकिस्तान बार-बार दोहराता है।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने इस घृणित हमले को अंजाम देने वाले संगठन जैश ए मोहम्मद और उसके आतंकवादियों के दावे को भी नजरंदाज कर दिया है। खान के 'नया पाकिस्तान' के नारे को हास्यास्पद बताते हुए वक्तव्य में कहा गया है कि क्या 'नये पाकिस्तान' में सरकार के मंत्री हाफिज सईद जैसे आतंकवादियों, जिन्हें संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंधित किया है, के साथ खुलेआम मंच साझा करते हैं। पाकिस्तान दावा करता है कि वह आतंकवाद से सबसे अधिक पीडि़त है। यह सच्चाई से बहुत दूर है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को भलीभांति पता है कि 'पाकिस्तान आतंकवाद का केन्द्र' है। 



बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को पुलवामा हमले में पाक के हाथ को साफ तौर पर खारिज किया। इमरान ने कहा कि भारत ने बिना किसी सबूत के इस्लामाबाद पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अगर भारत पाकिस्तान पर सैन्य कार्रवाई करेगा तो वह भी ऐसा पलटवार करेगा कि जंग थामनी मुश्किल हो जाएगी। अपने कुछ देर के संबोधन में इमरान ने आतंकवाद पर विक्टिम कार्ड खेलते हुए एक बार फिर कश्मीर राग अलापा। 

Related Stories: