‘यूनाइटेड इंडिया’ के रूप में उभर रहा है भारत: संजय डालमिया

01:17 PM Jul 21, 2019 |

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): पूर्व राज्यसभा सदस्य एवं उद्योगपति संजय डालमिया ने कहा है कि पिछले कुछ वर्षों में भारत ने अपने वैश्विक कद को बढ़ाया है और धार्मिक असमानताओं को पीछे छोड़कर एक ' यूनाइटेड इंडिया' के रूप में उभरा है। श्री डालमिया ने यहां यूनीवार्ता से कहा कि जाति, पंथ और धर्म से विभाजित एक देश से हटकर, भारत अब लोककल्याण के माध्यम से एकजुट हो रहा है। पिछले कुछ वर्षों से केन्द्र सरकार का उद्देश्य बड़े पैमाने पर समाज को लाभ देना और गंभीर मुद्दों को हल करना रहा है। राजनीतिक दलों द्वारा की गई विभिन्न पहलों ने जाति / धर्म के अंतर होने के बावजूद देशवासियों पपर सकारात्मक प्रभाव डाला है।

उन्होंने मनरेगा का उल्लेख करते हुये कहा कि बेरोजगारों को कम करने के लिए प्रत्येक घर में कम से कम 100 दिनों का रोजगार सुनिश्चित किया जाना बहुत ही सराहनीय है। प्रधानमंत्री जीवनज्योति बिमा योजना समाज के निम्न आय वर्गों को लक्षित करती है। प्रधानमंत्री जनधन योजना का उद्देश्य गरीबों को बैंकिंग सुविधा प्रदान करना है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, बीमा और पेंशन जैसे कई कार्यक्रम हैं जिनका समाज पर सकारात्मक प्रभाव हुआ है।
 
राज्य स्तर पर शुरू की गयी कल्याणकारी योजनाओं का उल्लेख करते हुये श्री डालमिया ने कहा कि समाजवादी पेंशन योजना ने उत्तर प्रदेश में 45 लाख से अधिक महिलाओं की मदद की है। उत्तर प्रदेश सरकार की मुफ्त लैपटॉप योजना का उद्देश्य डिजिटल डिवाइड को दूर करना और राज्य के युवाओं को सशक्त बनाना था। उज्ज्वला योजना के तहत नागरिकों को काफी लाभ हुआ है। तमिलनाडु सरकार द्वारा संचालित अम्मा कैंटीन, समाज के वंचित लोगों के लिए रेस्तरां की एक श्रृंखला है जो गरीबों और जरूरतमंदों के लिए की गयी एक बड़ी पहल है। इस योजना में वे लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं, वे अब बाजार मूल्य से बहुत सस्ती दरों पर खाना खाने में सक्षम हैं। 

उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कई योजनाएं और पहल भी शुरू की हैं। बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ योजना एक ऐसी पहल है जो समाज में बालिकाओं को लेकर परिवर्तनकारी बदलाव लायी है। इस तरह की जन कल्याणकारी योजनाओं से निश्चित रूप से सरकार की पहलों का सफल प्रभाव देश की समग्र और निष्पक्ष प्रगति के तौर पर अच्छी तरह से सामने आ रहा है।