राजीव गांधी की सोच से विश्व में भारत की बनी पहचान: कमलनाथ

भोपाल (उत्तम हिन्दू न्यूज): मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की 21 वीं सदी की संचार क्रांति की सोच के चलते भारत की विश्व में पहचान बनी है।

कमलनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय गांधी की 28 वीं पुण्यतिथि पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में उनके चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर उनका पुण्य स्मरण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गांधी सोच भारत को विश्व से जोड़ने की थी, उनकी सोच थी कि किस प्रकार भारत 21 वीं सदी में प्रवेश करे। जब वे 21 वीं सदी में भारत को ले जाने और कम्प्यूटर की बात करते थे तो लोग उन पर हंसते थे। लेकिन आज हम कम्प्यूटर और सेलफोन के बिना अपना काम नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा कि आज हमारे पास जो फोन है, लेपटाॅप है, यह गांधी की सोच थी, उनका सपना था। राजीव गांधी ने देश को एक नई दिशा दी और उसी से विश्व में भारत की पहचान बनी। इस अवसर पर कांग्रेस पदाधिकारीगण पूर्व मंत्री सुरेश पचैरी, सांसद विवेक तन्खा, रामनिवास रावत, चंद्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, राजीव सिंह, महेन्द्र जोशी, शोभा ओझा, नरेन्द्र सलूजा, भूपेन्द्र गुप्ता सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।