भारत-चीन विवाद: हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा में दोनों सेनाओं का पीछे हटना शुरू, पेट्रोलिंग भी रुकी

05:34 PM Jul 07, 2020 |

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): चीनी सेना की पूर्वी लद्दाख में कुछ इलाकों से वापसी जारी है। सेना के सूत्रों ने आज बताया कि चीनी और भारतीय सेना के बीच पीछे हटने की प्रक्रिया हॉट स्प्रिंग और गोगरा इलाके में कल शुरू हुई है। यह अगले कुछ दिन में पूरी हो जाएगी। लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर स्थितियां सामान्य होने के बाद पेट्रोलिंग शुरू होगी। बताया जा रहा है कि एलएसी पर संयुक्त रूप से कैम्पों के रीलोकेशन और 'विश्वास बहाली' को लेकर सत्यापन किए जाने और सभी चरणों के पूरा होने के बाद गश्ती शुरू होगी।


फिलहाल लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर दोनों पक्षों यानी भारत और चीन की सहमति से पेट्रोलिंग नहीं हो रही है। पेट्रोलिंग पर रोक इसलिए लगाकर रखी गई गई है कि मौजूदा हालात में कोई ऐसी घटना या हिंसक झड़प न हो जाए जिससे तनाव और बढ़ जाए। सूत्रों ने बताया कि समझौते के तहत दोनों पक्ष विवादित इलाकों से 1 से 1.5 किमी पीछे हटेंगे और जब यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो आगे की दिशा तय करने के लिए दोबारा बातचीत होगी।

भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक, इलाके में चीनी सेना ने कल से यहां बनाए अपने ढांचों को ध्वस्त करना शुरू कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक, दोनों पक्ष विवाद वाली जगह से एक से डेढ़ किमी. पीछे जाएंगे। दोनों सेनाओं के पीछे हटने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आगे की वार्ता आयोजित होने की संभावना है। इससे पहले रविवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने टेलीफोन पर बात की जिसमें वे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से सैनिकों के ‘तेजी से’ पीछे हटने की प्रक्रिया को पूरा करने पर सहमत हुए। बता दें कि 15 जून को गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। झड़प में चीनी सेना को भी काफी नुकसान होने की खबर है हालांकि उसने अब तक इसका ब्योरा साझा नहीं किया है।