आयकर विभाग के शिकंजे में 9000 लोग, प्रॉपर्टी खरीदने पर नोटिस जारी 

नोएडा (उत्तम हिन्दू न्यूज) - देश की राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के ओद्योगिक क्षेत्र नोएडा में आयकर विभाग ने 9,000 लोगों को नोटिस भेजा है। दरअसल, विभाग ने ये नोटिस उन लोगों को दिया गया है जिन्होंने वित्तीय वर्ष 2010-11 में 30 लाख रुपये या उससे अधिक कीमत की संपत्ति अपने नाम रजिस्टर कराई है और इसका विवरण आईटी विभाग को नहीं दिया है। बताया जा रहा है कि ऐसे लोगों की कुल संख्या 9,000 है और उन सभी से विभाग ने इनकम टैक्स रिटर्न की डिटेल्स मांगी हैं।

खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक, नोटिस पाने वाले अधिकतर लोग वो हैं जिन्होंने  वित्तीय वर्ष 2010-2011 में फ्लैट खरीदा था। इनके फ्लैट की कीमत 30 लाख रुपये या उससे अधिक है। इन फ्लैट्स की रजिस्ट्री तो हो चुकी है, लेकिन इन लोगों ने अब तक आयकर विभाग में फ्लैट खरीदने संबंधी किसी भी प्रकार की जानकारी जमा नहीं कराई  है। लिहाजा आयकर विभाग ने इन खरीदारों को नोटिस जारी कर इनके आयकर रिटर्न की जानकारी मांगी है।

गौरतलब है कि आयकर विभाग बड़े शहरों में फ्लैट खरीदने वालों पर कड़ी नजर बनाए हुए है। इससे पहले भी विभाग ने फ्लैट खरीदारों को नोटिस जारी कर उनके द्वारा इतनी बड़ी रकम के भुगतान का हिसाब मांग था। बताया जा रहा है कि आयकर विभाग की इस कार्रवाई के दो मुख्य मकसद हैं। पहला ये कि इसके जरिए रीयल एस्टेट मार्केट में कालेधन की जांच की जा रही है और दूसरी ये कि विभाग चाहता है कि आयकर रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या में इससे आने वाले दिनों में इजाफा हो।

Related Stories: