आईएमए का ऐलान, इमरजेंसी छोड़ कल देशभर में ठप रहेंगी सभी स्वास्थ्य सेवाएं 

08:55 PM Jun 16, 2019 |

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): पश्चिम बंगाल में एक डॉक्टर पर हमले के विरोध में पूरे देश के डॉक्टरों के शीर्ष संगठन आईएमए (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) ने कल सुबह छह बजे से चौबीस घंटे की हड़ताल का आह्वान किया है। एसोसिएशन का कहना है कि अगर सरकार उनकी सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून नहीं लाती है तो वे आगे बड़े कदम उठा सकते हैं। सोमवार से चौबीस घंटों की हड़ताल में इमर्जेंसी सेवाओं के अलावा हर तरह की स्वास्थ्य सेवा बंद रखने का फैसला किया गया है। इसमें पैथोलॉजी से लेकर स्वास्थ्य से जुड़ी हर सेवा शामिल है। 

चंडीगढ़ के डॉक्टर भी हड़ताल में होंगे शामिल  
इस हड़ताल में चंडीगढ़ के डॉक्टर भी हिस्सा लेंगे। परिषद की चंडीगढ़ इकाई की तरफ से अध्यक्ष डॉ़ राजेश धीर आज यहां जारी बयान के अनुसार सोमवार की सुबह छह बजे से मंगलवार की सुबह छह बजे तक ओपीडी, रेडियोलॉजी, प्रयोगशालाओं समेत सभी गैर-अत्यावश्यक सेवाएं ठप रहेंगी। केवल आपातकालीन व कैजुअल्टी सेवाएं ही उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि उनकी मुख्य मांग अस्पतालों में हिंसा के खिलाफ राष्ट्रीय कानून बनाने की है जिसके तहत अस्पतालाें में हिंसा करने वालों को कम से कम सात साल की सजा हो। उन्होंने कहा कि अस्पतालों को ‘सुरक्षित क्षेत्र‘ घोषित किया जाए तथा समुचित सुरक्षा व्यवस्था राज्य की जिम्मेवारी हो।


 
परिषद के सचिव डॉ़ हरदीप सिंह संतोख ने कहा कि चंडीगढ़, मोहाली और पंचकूला के निजी समेत सभी श्रेणियों के डॉक्टर, पीजीआई और जीएमसीएच के निवासी डॉक्टर, चिकित्सा छात्र, इंटर्न, फैकल्टी हड़ताल में शामिल रहेंगे। शाम को विरोध प्रदर्शन किया जायेगा और चंडीगढ़ प्रशासकों को मांगों का ज्ञापन दिया जायेगा।