सरकार को अपने विकास कार्यों पर भरोसा है तो बरोदा से खट्टर खुद लड़ें उपचुनाव : हुड्डा

सोनीपत (सुनील): सोनीपत जिले की बरोदा विधानसभा उपचुनाव को लेकर प्रदेश की राजनीति दिनोंदिन गरमाती जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को चुनौती दी है। हुड्डा ने कहा कि मुख्यमंत्री बरोदा से चुनाव मैदान में आ जाएं। मैं भी उनके समक्ष चुनाव लड़ूंगा। जनता कर देगी फैसला। पूर्व सीएम हुड्डा रविवार दोपहर को मुरथल रोड पर स्थित एक गार्डन में पत्रकारों से बातचीत करते रहे थे। 
सोनीपत पहुंचे भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि बरोदा उपचुनाव को लेकर कल चंडीगढ़ में विधायक दल की बैठक कर आगे की रणनीति तैयार करेंगे। बरोदा उपचुनाव की बागडोर दीपेन्द्र सिंह हुड्डा संभालेंगे। उपचुनाव पूरा होने तक दीपेंद्र सिंह हुड्डा बरोदा ही रहेंगे। हुड्डा ने प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि इस सरकार से मजदूर, किसान हर वर्ग दुखी है। कोरोना जैसी महामारी से निपटने में भी प्रदेश सरकार विफल रही है। उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में पुलिस ही सुरक्षित नहीं है तो आम जनता कैसे सुरक्षित रह सकती है। लोग अपनी सुरक्षा खुद कर रहे हैं। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सरकार में हिस्सेदारी वाले बयान पर भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि वह किस चीज में हिस्सेदारी देना चाहते हैं। विकास तो किया नहीं और न ही करना है। यहां की जनता अपराध और भ्रष्टाचार में हिस्सेदारी नहीं चाहती। पूर्व सीएम हुड्डा ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस समय प्रदेश में अपराध बढ़ गया है और सरकार नाकाम साबित हुई है। उन्होंने कहा कि बरोदा हरियाणा का हिस्सा है और सीएम कह रहे हैं कि अगर बरोदा की जनता सरकार में हिस्सेदारी चाहती है तो बीजेपी-जेजेपी गठबंधन को वोट देंं। उन्होंने कहा कि बरोदा की जनता स्वाभिमानी है। पूर्व सीएम भूपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि कोरोना महामारी में देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है। सरकार को जनहित को प्राथमिकता देनी चाहिए, लेकिन सरकार पैट्रोल व डीजल के दाम बढ़ाकर जनहित की भावनाओं पर कुठाराघात कर रही है। उन्होंने कहा कि लगातार पैट्रोल डीजल के दामों में इजाफा हो रहा है, जोकि न्यायोचित नहीं है। सरकार को चाहिए कि अब उस पर नियंत्रण लगाए, ताकि आमजन की आर्थिक स्थिति प्रभावित न हो। उन्होंने कहा कि आज कोरोना जैसी महामारी में विपक्ष सरकार के साथ खडा है, कोरोना महामारी को हमें संगठित होकर हराना होगा। पत्रकारवार्ता के दौरान जगबीर मलिक, जयतीर्थ दहिया, जयवीर वाल्मीकि, अशोक छाबड़ा, निखिल मदान, अनुज छाबड़ा, मनोज रिढाऊ, ललित दीवान सहित काफी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे।