चिनाब नदी में गिरा हिमखंड, लाहुल घाटी के लोगों की बढ़ी परेशानी

कुल्लू (उत्तम हिन्दू न्यूज) : त्रिलोकीनाथ में हिमखंड गिरने से चेनाब नदी का प्रवाह रुक गया है। इस प्रवाह के रुकने से स्थानीय लोगों में दहशत है। मसलन नदी का बहाव रुकने से इसके किनारे रहने वाले लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। लाहुल घाटी के धार्मिक पर्यटन स्थल त्रिलोकीनाथ के समीप हिमखंड गिरने से चिनाब नदी (चंद्रभागा) का बहाव रुक गया है। इससे नदी में झील बन गई है। हालांकि कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है लेकिन नदी किनारे रहने वालों लोगों में दहशत है। आपदा प्रबंधन की टीम ने इसकी सूचना लाहुल स्पीति प्रशासन को दे दी है।

त्रिलोकीनाथ के समीप बंगारू नाले में सोमवार दोपहर एक हिमखंड गिरा। यह हिमखंड बहकर चिनाब नदी में पहुंच गया। इससे नदी का बहाव रुक गया। नदी पर झील बन गई। लाहुल स्पीति प्रशासन ने पहले ही हिमखंड गिरने की आशंका व्यक्त की थी। पटन घाटी निवासी दिनेश, किशन, राकेश व नितेश ने बताया कि नाले में हिमखंड गिरने से घाटी के लोग चिंतित हैं। 

नदी का बहाव रुकने से इसके किनारे रहने वाले लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। लाहुल स्पीति के कार्यकारी उपायुक्त अमर नेगी ने बताया कि आपदा प्रबंधन की टीम ने त्रिलोकीनाथ के समीप नाले में हिमखंड गिरने की सूचना दी है। प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है। घाटी में रुक-रुक कर बर्फबारी का दौर जारी है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि मौसम साफ होने तक घरों से बाहर न निकले।