एचवीपीएन का मुख्यमंत्री राहत कोष में पांच करोड़ का चैक

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज)- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है प्राकृतिक आपदाओं के दौरान राहत कार्यों में सहयोग करने के लिए आगे आना सदैव भारतीय संस्कृति की परम्परा रही है ऐसे में सरकारी प्रयासों के साथ-साथ सरकार के अधीन बोर्डों और निगमों को भी अपने लाभांश से अधिकाधिक योगदान देना चाहिए ताकि आपदा प्रभावित लोगों की मदद की जा सके। 


हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम की ओर से प्रबंध निदेशक मोहम्मद शाईन तथा बिजली निगमों के चेयरमैन शत्रुजीत कपूर ने मुख्यमंत्री को पांच करोड़ रुपये का चैक मुख्यमंत्री राहत कोष में भेंट किया। इसके अलावा, इस अवसर पर हरियाणा बिजली उत्पादन निगम की ओर से भी वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 37,58,79,800 करोड़ रुपये का चैक मुख्यमंत्री की उपिस्थित में वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.वी.एस. एन प्रसाद को राज्य सरकार के इक्विटी निवेश के लिए दिया गया। 

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय ताप बिजली परियोजना के संयुक्त उद्यम वाली अरावली पॉवर कारपोरेशन प्राइवेट लिमिटेड ने झज्जर जिले में 500-500 मेगावॉट की इन्दिरा गांधी सुपर ताप परियोजना की तीन इकाईयां स्थापित की हैं जिसमें 50 प्रतिशत हिस्सा इस कारपोरेशन का है तथा 25-25 प्रतिशत इक्विटी हरियाणा सरकार और दिल्ली की इन्द्रप्रस्थ गैस कारापोरेशन लिमिटेड की है। वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान अरावली कम्पनी ने 10.24 प्रतिशत की दर से लाभांश घोषित किया है जिसमें हरियाणा बिजली उत्पादन निगम पहले भी वित्त वर्ष 2015-16 तथा वित्त वर्ष 2017-18 में राज्य सरकार को क्रमश: 63.41 करोड़ रुपये तथा 72.42 करोड़ रुपये दे चुका है।