Saturday, November 17, 2018 07:32 PM

हरियाणा विधानसभा में तने जूते, कांग्रेस विधायक दलाल निलम्बित 

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज): हरियाणा विधानसभा में आज एक अभूतपूर्व घटना घटी जब कांग्रेस सदस्य कर्ण सिंह दलाल और विपक्ष के नेता और इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) विधायक अभय चौटाला के बीच नोंक झोंक इतनी बढ़ गई कि दोनों ने एक दूसरे पर जूते तान लिए गए लेकिन मार्शलों ने तत्काल हस्तक्षेप कर स्थिति को बदतर होने से बचा लिया। दोनों सदस्यों के इस अशोभनीय और अमर्यादित व्यवहार पर वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु द्वारा सदन में लाये गये निंदा प्रस्ताव ध्वनिमत से पारित किया गया। हंगामे की स्थिति में सदन की कार्यवाही चार बार स्थगित करनी पड़ी। मामला उस समय बिगड़ा जब राज्य में लगभग 25 लाख गरीब परिवारों के राशन कार्ड कथित तौर पर राशन कार्ड धारकों की सूची से हटाये जाने को लेकर सदन में दलाल के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा चल रही थी।

कांग्रेस सदस्य ने इस दौरान कहा कि गरीबों के नाम राशन कार्ड सूची से गायब होने से हरियाणा का नाम ‘कलंकित‘ हो रहा है जिस पर सत्तापक्ष के सदस्य भडक़ गये। कृषि मंत्री और वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कांग्रेस सदस्य के हरियाणा के लिये कलंकित शब्द का इस्तेमाल करने पर इसे राज्य और इसकी लगभग ढाई करोड़ जनता, पूर्वजों और देश की रक्षा के लिये लडऩे वाले राज्य के सैनिकों और शहीदों का अपमान और गाली करार दिया। मामला इतना बढ़ा कि धनकड़ और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने दलाल को सदन से निष्कासित करने की मांग की वहीं कैप्टन अभिमन्यु ने दलाल से अपने शब्द वापिस लेने की मांग की। लेकिन दलाल की दलील थी कि उन्होंने इस शब्द का इस्तेमाल राज्य के लिये नहीं बल्कि सरकार के लिए किया है। उन्होंने राज्य को कोई गाली नहीं दी है। उन्होंने अपने इस शब्द पर पीठासीन उपाध्यक्ष संतोष यादव से व्यवस्था देने की मांग की। इस दौरान सत्तापक्ष और कांग्रेस सदस्यों के बीच तीखी नोंकझोंक के बीच सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिये स्थगित कर दी गई। 

सदन की कार्यवाही पुन: शुरू होने पर विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने दलाल को सम्बोधित करते हुये कहा कि उन्होंने गलत शब्द का इस्तेमाल किया गया है तथा वह इसे वापिस लें। लेकिन दलाल ने इस शब्द पर उनसे व्यवस्था देने की मांग की। इस बीच चौटाला ने कहा कि दलाल के इस शब्द से राज्य की साख और इसकी जनता को आधात पहुंचा है। उन्होंने सत्तापक्ष से दलाल को सदन से निष्कासित करने को लेकर प्रस्ताव लाने की मांग की और कहा कि पार्टी इसका समर्थन करेगी। 

इस दौरान दलाल ने चौटाला पर कोई टिप्पणी कि जिससे इनेलो नेता भडक़ गये और मामला बढ़ गया। दोनों नेता अपनी सीटों से निकल कर एक दूसरे की ओर बढ़े और पैर से जूते निकाल कर तान दिये। इस दौरान दोनों ओर से असंसदीय शब्दों का भी इस्तेमाल हुआ। स्थिति बिगड़ती देख तुरंत कांग्रेस सदस्यों और मार्शलों ने बीच बचाव किया कोई अप्रिय घटना होने से बच गई। हंगामे की इस स्थिति के बीच सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिये स्थगित कर दी गई।  

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।