शिल्पकारों, दस्तकारों का पंसदीदा ब्रांड बन चुका है ‘हुनर हाट’ : नकवी

इलाहाबाद (उत्तम हिन्दू न्यूज): केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रविवार को दावा किया कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के रोजगारपरक कार्यक्रम ‘हुनर हाट’ ने हाशिये पर पड़े हुनरमंद शिल्पकारों और दस्तकारों को संजीवनी देते हुये उनके उत्पाद के लिये राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय बाजार के दरवाजे खोले हैं। 

उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र में आयोजित ‘हुनर हाट’ के उदघाटन समारोह को संबोधित करते हुये श्री नकवी ने कहा कि हाशिये पर पड़ी हुनर की विरासत को हुनर हाट से जबरदस्त हौसला मिला है। देश भर में आयोजित किये जा रहे हुनर हाट ने हुनरमंद शिल्पकारों, दस्तकारों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय बाजार मुहैया कराया हैं, वहीं बड़ी संख्या में उन्हें रोजगार के अवसर भी उपलब्ध हुए हैं। 

नकवी ने कहा कि ‘हुनर हाट’ एक ही जगह पर देश भर के दस्तकारों, शिल्पकारों के नायाब हस्तनिर्मित स्वदेशी सामान के प्रदर्शन एवं बिक्री और विभिन्न राज्यों के लजीज़ पकवानों के स्वाद का एक विश्वसनीय एवं लोकप्रिय ब्रांड बन गया है। ‘हुनर हाट’ ने ‘मेक इन इंडिया’, ‘स्टैंड अप इंडिया’ और ‘स्टार्ट अप इंडिया’ के संकल्प को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। मात्र एक साल की अल्प अवधि में इस कार्यक्रम से एक लाख 18 हजार से ज्यादा कारीगर, दस्तकार, शिल्पकार एवं उनसे जुड़े लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त हुये हैं। सरकार का लक्ष्य ‘हुनर हाट’ के जरिये 2019 तक लगभग पांच लाख लोगों को रोजगार के मौके उपलब्ध कराना है।