अस्पताल में हंगामे से बिगड़ी 330 किलोग्राम वजनी इंसान की तबीयत, मौत

लाहौर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पाकिस्तान के सबसे वजनी इंसान नूरूल हसन की मौत हो गई है। 330 किलोग्राम वजनी नूरूल को कुछ दिन पहले इलाज के लिए लाहौर के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। तब दीवार तोड़कर उन्हें घर से बाहर निकालना पड़ा था। उन्हें बचाने के लिए डॉक्टर्स ने काफी कोशिश की लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। सादिकाबाद निवासी नूरुल हसन एक टैक्सी ड्राइवर थे। पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के निर्देश पर इलाज के लिए लाहौर में एक पाकिस्तानी सेना के हेलिकॉप्टर से लाया गया था। 


नूरुल हसन की 28 जून को वजन घटाने की सर्जरी की गई थी। सर्जरी के बाद उन्हें निगरानी के लिए आईसीयू में रखा गया था। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक सोमवार को एक महिला मरीज की शालामार अस्पताल में निधन के बाद उनके परिजनों ने काफी हंगामा मचाया और इस दौरान हसन और एक दूसरे मरीज की मौत हो गई क्योंकि उन्हें अकेला छोड़ दिया गया था। डॉ. माजुल हसन ने बताया, इस हंगामे में, नूर और एक दूसरे मरीज की मौत कर्मचारियों की अनुपलब्धता के कारण हुई। उन्होंने कहा कि महिला मरीज के परिजनों ने मौत का कारण नहीं बताया, लेकिन हिंसा के कारण स्थिति बिगड़ गई।