गृहमंत्री ने यमुनानगर अस्पताल में कोविड-19 आणविक लैब का विडियो कांफ्रेसिंग से किया उद्घाटन 


अम्बाला/राजेन्द्र भारद्वाज। हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री अनिल विज ने आज जिला अस्पताल यमुनानगर में स्थापित की गई नई कोविड-19 आणविक (मॉलिक्यूलर) लैब का विडियो कांफ्रेसिंग से उद्घाटन किया। राज्य के सरकारी अस्पतालों में स्थापित की गई यह 8 वीं लैब होगी, जिसके बाद मेडिकल कॉलेजों सहित प्रदेश में 17 सरकारी आणविक लैब सेवारत हो गई हैं।
विज ने कहा कि इनके अलावा विभाग ने 2 अन्य लैब के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हुए हैं। राज्य सरकार द्वारा अब लोगों को कोविड-19 जांच की सुविधा 19 सरकारी लैब में प्रदान की जा रही है। इनके अतिरिक्त प्रदेश में 6 निजी प्रयोगशालाओं द्वारा भी लागों को यह सुविधा दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि अब सरकारी अस्पतालों में 14950 टेस्ट प्रतिदिन किए जाते रहे हैं। इसी प्रकार प्रदेश के 6 निजी अस्पतालों में 5620 टेस्ट की सुविधा दी जाती है। इस प्रयोगशाला के शुरू होने से राज्य में कोविड-19 टेस्ट की क्षमता बढकऱ अधिक हो जाएगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना के शुरूआती काल में प्रदेश में कोई भी ऐसी लैब नही थी, जिसके कारण कोरोना की जांच के लिए नमूनों को पूना की लैब में भेजा जाता था। इस दिशा में हमारी सरकार ने सबसे तेज गति से हरियाणा में स्वास्थ्य आधारभूत संरचना को मजबूत किया है। उन्होंने बताया कि मरीजों के लिए राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में एमआरआई, सीटी स्कैन, डायलिसिस, डिजिटल एक्स-रे जैसी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में हमारी सरकार आगे बढ़ रही है। उन्होंने सिविल सर्जन हिसार को निर्देश दिए कि वे वहां वैकल्पिक जमीन की तलाश करें ताकि अस्पताल का नया भवन बनाया जा सके। इसके साथ अन्य सिविल सर्जनस को भी अपनी आवश्यकतानुसार प्रस्ताव भेजने को कहा।
इस दौरान विज ने चरखी दादरी में जिला वैक्सिन स्टोर की शुभारम्भ किया, इसके बाद राज्य के सभी 22 जिलों में यह सुविधा शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि दवाईयों एवं वैक्सिन की कोल्ड चेन बनाए रखने के लिए वैक्सिन स्टोर की अहम् भूमिका होती है। जिले में 15 कोल्ड चेन पॉईंट हैं, जिन्हें इसी स्टोर से वैक्सिन की आपूर्ति करवाई जाएगी। इससे पहले इन चेन पॉईंट को भिवानी जिला से जोड़ा हुआ था, इसकी शुरूआत से भिवानी वैक्सिन स्टोर पर बोझ कम हो जाएगा।
अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी जिलों में इस प्रकार की लैब स्थापित करने का लक्ष्य रखा हैं, जिसके तहत शीघ्र ही भिवानी में भी ऐसी लैब स्थापित की जाएगी। इसके अलावा राज्य के सभी जिला अस्पतालों में अन्य टेस्ट करवाने की सुविधा भी मरीजों को दी जाएगी। उन्होंने कहा चरखी दादरी में वैक्सिन स्टोर की शुरूआत से कोल्ड चेन कायम रखने में सहायता मिलेगी। यहां वैक्सिन वैन, आईएलआर, फ्रीजर, कोल्ड बॉक्स इत्यादि सहित अन्य आवश्यक सुविधा प्रदान होगी। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हरियाणा के मिशन निदेशक प्रभजोत सिंह, आयुा महानिदेशक श्री अतुल द्विवेदी, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ एसबी कम्बोज सहित अनेक अधिकारी मौजूद थे।