मुनाफाखोरी मामले में दिल्ली की कई कंपनियो को हिमाचल पुलिस का नोटिस

बददी/ : बददी में आक्सीजन बनाने वाली कंपनी में पुलिस जिला बददी की कार्रवाई तीसरे दिन भी जारी रही। इसी कड़ी में पुलिस ने इंडो गैस कंपनी से 44 गैस सिलेंडर जब्त करके उद्योग विभाग के अधिकारियों को सौंप दिए। लगातार तीसरे दिन थाना प्रभारी बददी विजय कुमार शर्मा के नेतृत्व में कई दस्तावेजों की जांच की गई। एसपी बददी ने बताया कि इस बार विभाग ने ऑक्सीजन सिलेंडर खरीद फरोख्त से जुडी दिल्ली की कई कंपनियों व ट्रेडरों से पूछताछ की गई व उनको नोटिस जारी किया गया। कंपनी पर आरोप है कि उसने गृह मंत्रालय व प्रदेश सरकार के निर्देशों की अवलेहना करते हुए आक्सीजन सिलेंडर अन्य उद्योगों व लोगों को मुनाफाखोरी के चक्कर में बेचे। कोविड के बढते प्रकोप के कारण केंद्र सरकार ने आक्सीजन सिलेंडर गैस को आवश्यक वस्तु अधिनियम घोषित कर दिया है। इसका सारा नियंत्रण अपरोक्ष रुप से सरकार ने अपने अधीन ले लिया था। हिमाचल की प्रत्येक कंपनियों को साफ हिदायत थी कि उनकी कंपनी में बनने वाले प्रत्येक सिलेंडर का विवरण व खरीद फरोख्त का सपूर्ण विवरण रखा जाए। आरोप है कि इस कंपनी ने सरकार हिदायतों के बावजूद कुछ सिलेंडर मुनाफा खोरी के चक्कर में बाहर ही बेच दिए। इस सारे मामले की जांच के लिए जिलाधीश सोलन ने एक कमेटी गठित कर जांच के आदेश दिए थे जिसके बाद संयुक्त कमेटी ने शनिवार को कंपनी के दस्तावेज खंगाले थे और सोमवार को भी यह कार्रवाई जारी रही। कमेटी ने यह भी पाया था गृह मंत्रालय के 25 अप्रैल के निर्देशों को भी उल्लंघन हुआ है जिसमें गैर आवश्यक उदेश्यों के लिए आक्सीजन के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन कंपनी ने 29 तारीक तक ऐसी सेल जारी रखी। 19 अप्रैल से तीन दर्जन निजी कंपनियों व व्यक्तियों को 706 सिलेंडर बेचे गए। पुलिस ने इस संदर्भ में मामला दर्ज कर लिया था। वहीं दूसरी ओर एसपी बददी रोहित मालपानी ने बताया कि जांच के दौरान पाया कि हिमाचल सरकार ने आपदा एक्ट के तहत जो नियम बनाए गए थे उसकी पालना संबधित उद्योग नही कर रहा था। विक्रय का हर खाका रखना जरुरी है। पुलिस का कहना है कि लगातार हो रही जांच के दौरान कई खुलासे हो सकते हैं। जांच से पहले कुछ नहीं सांझा किया जा सकता। वहीं दूसरी ओर सूत्रों से पता चला है कि यह उद्योग बाहर की बाहर मंहगे दामों पर आक्सीजन बेच रहा था जो कि रिकार्ड में दर्ज नहीं था।

उपनिदेशक को सौंपे-
पुलिस ने सोमवार को जब्त किए गए तमाम 44 सिलेंडर उद्योग विभाग बददी के उप निदेशक संजय कंवर को सुपुर्द कर दिए और अब वो उनकी निगरानी में अगले आदेशों तक रहेंगे। वहीं दूसरी ओर कंपनी प्रबंधन ने अपने उपर लगे समस्त आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा हमारे पास समस्त दस्तावेज हैं।