यहां बस रातभर का होता है पति-पत्नी का रिश्ता! बेहद अजीब है रहने के तौर-तरीके

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): संसार में पति-पत्नी के रिश्ते को सात जन्म वाला रिश्ता कहा जाता है। लेकिन चीन में एक ऐसी जगह है जहां पर शादी नाम की चीज का अस्तित्व ही नहीं है। यहां लोग शादी के बंधन में बंधे बिना ही अपने पार्टनर के साथ रहते हैं। जी हां, दरअसल दक्षिण-पश्चिमी चीन की मूसो जनजाति में एक ऐसी ही परंपरा है। यहां लड़कियों को 13 वर्ष की उम्र में ही अपनी मर्जी से अपने समुदाय के किसी भी पुरुष से प्रेम करने का अधिकार मिल जाता है।

इस जनजाति में महिलाएं ही 'बॉस' होती हैं और यहां बच्चों के भरण-पोषण की जिम्मेदारी भी पिता की नहीं बल्कि मां और उसके घर वालों की होती है। एक बात चौंकाने वाली ये भी है कि बच्चों के पिता उनके साथ नहीं बल्कि अलग रहते हैं यहां पुरुष दिन भर फिशिंग और शिकार जैसे काम करते हैं और रात में लड़की के घर जाते हैं। यहां लड़की के वयस्क होते ही उसे एक अलग बेडरूम दे दिया जाता है और उन्हें एक से ज्यादा पार्टनर चुनने के लिए भी स्वतंत्र होती हैं।

यहां लड़कियों को अपने पार्टनर के साथ रात बिताने की स्वतंत्रता भी होती है। अगर संबंध बनाने से उनके बच्चे होते हैं तो इसकी जिम्मेदारी मां की होती है बच्चे के भरण-पोषण के लिए पिता से किसी भी तरह की आर्थिक सहायता नहीं मिलती है। 

Related Stories: