हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए दिया संदेश

- सरकार द्वारा पुख्ता प्रबंध, जनता के सहयोग की जरूरत  दुष्यंत चौटाला

- सबको मिलकर इस वायरस को देश से भगाना है - डिप्टी सीएम

- देश व प्रदेशवासी रविवार को जनता कर्फ्यू का करें पालन - डिप्टी सीएम

- अगले कुछ दिनों तक जेजेपी के सभी कार्यालय आवागमन के लिए रहेंगे बंद

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज): कोरोना वायरस के बचाव के लिए प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने देश व प्रदेशवासियों को फेसबुक लाइव के माध्यम से संदेश दिया है। उन्होंने अपील की है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रविवार को किए गए जनता कर्फ्यू के आग्रह का वे पालन करें। उन्होंने कहा कि जनता कर्फ्यू के दौरान सभी अपने-अपने घरों में ही रहें। उन्होंने कहा कि पूरा देश रविवार को मिलकर इस महामारी से बचने के लिए अपना पूरा योगदान दे। उन्होंने कहा कि हम सबको मिलकर कोरोना वायरस को भारत से भगाना है।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने आशवस्त किया कि भारत सरकार व हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर मजबूती के साथ तैयारी भी कर रखी है और इसके खिलाफ लड़ाई भी मजबूती से लड़ी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा पूरे पुख्ता प्रबंध किए हुए हैं जिनमें चाहे आइसोलेशन वार्ड हो या अन्य आवश्यक इस्तेमाल की वस्तुएं हों। सभी को लेकर सरकार द्वारा प्रबंध किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि सरकार को सिर्फ जनता के सहयोग की जरूरत है, इसलिए वे सतर्क रहें और कोई ज्यादा जरूरी काम हो तो ही वे अपने घर से बाहर निकलें।

 दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यह महामारी बड़ी तेजी के साथ फैलती है। उन्होंने बताया कि अमेरिका में एक मार्च तक कोरोना के केवल दो ही मामले सामने आए थे लेकिन 20 मार्च तक वहां तेजी के साथ बढ़ते हुए 14 हजार का आंकड़ा पार हो गया। उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना इतना गंभीर रूप धारण न कर सके, इसके लिए सबको मिलकर इस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़नी है और इसे भारत से भगाना है। साथ ही दुष्यंत चौटाला ने बताया कि कोरोना वायरस की गंभीरता को देखते हुए जननायक जनता पार्टी ने अपने सभी कार्यालयों में अगले कुछ दिनों तक के लिए आवागमन बंद कर दिया है।

वहीं उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने 23 मार्च को शहीदे-ए-आजम शहीद भगत सिंह के शहीदी दिवस को लेकर खासकर युवाओं और बुजुर्गों से अपील की है कि वे इस दिन वीर शहीद योद्धाओं को याद कर उन्हें अपनी आगामी पीढ़ियों तक पहुंचाएं।