हमीरपुर का गौरव बना न्यूजीलैंड में सांसद

- डॉ. गौरव शर्मा ने हैमिल्टन बेस्ट सीट से लेबर पार्टी के टिकट पर जीत की दर्ज 

- चंयग न्यूजीलैंडर ऑफ इयर्स के सम्मान के लिए भी हो चुके हैं मनोनीत 

हमीरपुर (विशाल राणा): जिला हमीरपुर की तहसील गलोड़ के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत हड़ेटा  निवासी डॉ. गौरव शर्मा ने न्यूजीलैंड में सांसद बनकर देश और प्रदेश का नाम रोशन किया है। शनिवार रात्रि को घोषित हुए चुनाव परिणामों में डॉ. गौरव शर्मा ने हैमिल्टन बेस्ट सीट से लेबर पार्टी के टिकट पर जीत दर्ज की। डॉ. गौरव शर्मा को 15873 मत प्राप्त हुए जबकि इनके प्रतिद्वंदी नेशनल पार्टी के नेता को 11487 वोट मिले। उनके इस जीत से उनके पैतृक गांव मैं खुशी का माहौल है । 

डॉ. गौरव शर्मा का जन्म  1 जुलाई 1987 को हड़ेटा पंचायत में गिरधारी लाल शर्मा के घर हुआ। उनकी पहली से चौथी कक्षा की पढ़ाई डीएवी स्कूल हमीरपुर में हुई। पांचवी से सातवीं कक्षा की पढ़ाई धर्मशाला में हुई। 12 साल की उम्र में अपने पिता के साथ न्यूजीलैंड चले गए उनके पिता प्रदेश में बिजली बोर्ड में अधिषाषी अभियंता के पद पर कार्यरत थे उन्होंने यहां से ऐच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी उसके पश्चात न्यूजीलैंड में अपने बेटे के साथ 6 साल संघर्ष कर नौकरी प्राप्त की। बेटे की डॉक्टरी पढ़ाई ऑकलैंड से हुई। डॉक्टरेट की पढ़ाई के दौरान गौरव शर्मा ने जलवायु परिवर्तन का न्यूजीलैंड पर प्रभाव विषय पर एक प्रेजेंटेशन दी जिसे यूनिवर्सिटी ऑफ ऑकलैंड मैं पहला पुरस्कार मिला।

बाद में उन्हें वल्र्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन जिनेवा के साथ काम करने का भी मौका मिला। इस दौरान उन्होंने पब्लिक हेल्थ से जुड़े कई प्रोजेकटो में काम किया। बाद में उन्हें चंयग न्यूजीलैंडर ऑफ इयर्स के सम्मान के लिए मनोनीत किया गया। 1996 में गौरव शर्मा जब अपने पिता गिरधारी लाल के साथ न्यूजीलैंड गए थे तो शायद ही किसी ने सोचा होगा की एक दिन हिमाचल का होनहार युवा न्यूजीलैंड में सांसद बनकर पूरे देश व प्रदेश का नाम रोशन करेगा। आज क्षेत्र में हर किसी की जुबान पर यही है की मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती।