जैविक सुरक्षा प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर आइसोलेशन में भेजे गए हफीज

11:09 AM Aug 13, 2020 |

लंदन (उत्तम हिन्दू न्यूज): पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज को सोशल मीडिया पर एक 90 वर्षीय वृद्धा के साथ तस्वीर साझा करने के बाद जैविक सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने पर आइसोलेशन में भेज दिया गया है। हफीज ने एक वृद्धा के साथ टि्वटर हैंडल पर फोटो साझा करते हुए लिखा, “अपने होटल के पास स्थित गोल्फ कोर्स में आज सुबह एक प्रेरणादायक युवा महिला से मुलाकात हुई। इनकी उम्र 90 वर्ष से अधिक है और वह अपना जीवन खुश और स्वस्थ होकर गुजार रही हैं।” इसके बाद कई लोगों ने उनसे जैविक सुरक्षा प्रोटोकॉल को लेकर सवाल किए।

खिलाड़ियों को जहां एजिस बाउल में गोल्फ कोर्स का उपयोग करने की अनुमति दी गई थी वहीं उन्हें जैविक सुरक्षा प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने और बाहरी लोगों से दूर रहने को कहा गया था क्योंकि कोर्स अभी भी आम जनता के लिये खुला है।

हफीज को बुधवार को कोरोना टेस्ट किया गया और उन्हें अपनी तथा साथी खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए आइसोलेशन में जाने को कह दिया गया है। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड को इस घटना की जानकारी है और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के बयान ने स्पष्ट कर दिया है कि हफीज को अब पांच दिनों के लिए अपने होटल के कमरे में आइसोलेशन में रहना होगा। उन्हें टीम में वापसी से पहले कोरोना की लगातार दो नेगेटिव रिपोर्ट देनी होगी। हफीज पाकिस्तान की टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं है, लेकिन उन्हें 28 अगस्त से शुरू होने वाली तीन मैचों की टी-20 सीरीज के लिये शामिल किया गया है।