घरौंडा टोल-प्लाजा पर आंदोलनरत गुरनाम सिंह चढूनी ने बढ़ाया किसानों का हौसला

घरौंडा/विवेक राणा: बसताडा टोल प्लाजा पर किसानों का धरना प्रदर्शन व भूख हड़ताल जारी है। रविवार को ठंड व बरसात के मौसम में भी किसानों ने अपनी मांगो को लेकर सरकार के विरूद्ध रोष प्रकट कर सातवें दिन पांच मलिाओं ने भूख हड़ताल की व दसवें दिन भी टोल फ्री वाहन चले। किसानों ने बूंदाबांदी होते ही अपनी स्टेज टोल बेरियर के नीचे बना ली। महिला सोनिया तंवर एडवोकेट, पुष्पा, मिनू मुंजाल,सरोज शर्मा,राजेशवरी रंधावा ने भूख हड़ताल शुरू कर दी और हरियाणवीं कलाकार ने देश भक्ति रागनी के माध्यम से लोगों का मनोरजन किया।
बसताड़ा टोल प्लाजा पर पिछले 10 दिनों से आंदोलनरत किसानों को हौसला देने के लिए भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी पहुंचे। उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार मामले को आगे से आगे टालती जा रही है। आंदोलन में करीब 50 किसान शहीद हो चुके हैं, लेकिन सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में विभिन्न गवर्नर हाउस के सामने धरना, ट्रैक्टर ट्राली रैली,विरोध-प्रदर्शन सहित अन्य तरीकों से अपनी बात रखी जाएगी। उन्होंने किसानों की इस लड़ाई को धर्म-युद्ध करार दिया व लोगों से अडानी,अंबानी एवं बाबा रामदेव के उत्पादों का बहिष्कार करने की मांग की। उन्होंने किसानों को किसी भी प्रकार का उपद्रव न करने की हिदायत दी और आन्दोलन को शांति पूर्वक ही चलाने को कहा। इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष अजय राणा ने कहा कि किसानों से बातचीत में यदि सरकार जल्दी निर्णय ले लेती है तो वह भी सम्मान पूर्वक अपने घरों को निकल जाएंगे,अन्यथा वह गोली खाने को भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि यदि सरकार न मानी तो इस बार 26 जनवरी को लाल किले पर झंडा किसान लहराएंगे। धरने पर ग्रामीण महिला किसान भी बैठीं और उन्होंने भी कुछ किसानों के साथ भूख हड़ताल की। भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह व जिला अध्यक्ष अजय राणा ने धरने पर बैठी महिलाओं का आभार जताया।