बेअदबी के आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करे सरकार : सुखबीर

जालंधर/हेमन्त कुमार : शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पुड्डा मैदान में धरने को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस व आप (आम आदमी पार्टी) व कुछ अन्य लोग पंजाब का माहौल खराब करने में लगे हैं। प्रदेश को फिर से आतंकवाद के काले दौर में ले जाने में लगे हैं। सिख होते हुए भी सिख समुदाय को आपस में लड़वाने में लगे हैं। इसके अलावा हिन्दू-सिख भाईचारे में भी दरार पैदा करने में लगे हैं। सुखबीर बादल ने कहा कि इन सब की मिलीभगत का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि बतौर विपक्ष आम आदमी पार्टी के निशाने पर कभी भी सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस नहीं रही है। आम आदमी पार्टी ने सदा ही शिरोमणि अकाली दल को निशाना बनाया है। इससे स्पष्ट होता है कि आप पार्टी भी कांग्रेस से मिलीभगत कर पंजाब के हालात खराब करने में लगी है। सुखबीर बादल ने कहा कि कांग्रेस के सत्ता में आते ही आतंकवादी घटनाएं घटित होनी शुरू हो गई हैं। जालंधर में ही पिछले दिनों मकसूदां पुलिस थाना पर 4 ब्लास्ट हुए और फिर ऐके-57 तथा 1 किलो विस्फोटक सामग्री व अन्य हथियारों, कारतूसों सहित 3 आतंकी गिरफ्तार किए गए। 

सुखबीर बादल ने कहा कि पंजाब के मौजूदा हालातों से स्पष्ट होता है कि पंजाब में दो तरह के राजनीतिक दल काम कर रहे हैं। एक तरफ वह दल है जो पंजाब का माहौल खराब करने में लगे हैं तथा दूसरी तरफ वह दल है जो पंजाब में हिन्दू-सिख आपसी भाईचारे का प्रतीक है। सुखबीर बादल ने गत वर्ष मौड़ मंडी ब्लास्ट तथा श्री गुरु ग्रंथ साहिब से संबंधित बेअदबी मामले के लिए जिम्मेदार लोगों पर तुरंत कार्रवाई करने तथा प्रदेश सरकार द्वारा उक्त आरोपियों के नाम जल्द उजागर करने के लिए कहा। सुखबीर बादल ने कहा कि उक्त घटनाओं के लिए जो भी लोग जिम्मेवार हैं चाहे वह विवादित किसी डेरे से संबंधित क्यों न हो सब पर सख्ती से कानूनी कार्रवाई हो।

सुखबीर बादल ने इसके अलावा धरने में दलित विद्यार्थियों के वजीफे, पंजाब सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा सिख इतिहास से संबंधित छापी गई आपत्तिजनक किताब, पंजाब सरकार द्वारा किसानों के कर्ज माफी, व्यापारी व उद्योगपतियों के मामले भी उठाए। धरने में पूर्व कैबिनेट मंत्री विक्रमजीत सिंह मजीठिया, गुलजार सिंह रणिके, पवन टीनू, गुरप्रताप सिंह वडाला, हीरा सिंह गाबडिय़ा, जागीर कौर, जिला अकाली दल प्रधान (शहरी) कुलवंत सिंह मन्नण, अकाली नेता व पूर्व चेयरमैन नगर सुधार ट्रस्ट बलजीत सिंह नीलामहल, परमजीत सिंह भाटिया, सुभाष सोंधी, मनिन्दर पाल सिंह गुम्बर, प्रैस सचिव अकाली दल, गुरप्रीत सिंह इत्यादि भी उपस्थित थे। उधर दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी के शहरी अध्यक्ष दलजीत सिंह आहलूवालिया, अशोक गुप्ता, यशपाल सिंह धीमान, डा. जसलीन सेठी इत्यादि कांग्रेसी नेताओं ने सुखबीर सिंह बादल को काले झंडे दिखाए।

Related Stories: