सरकार को चुना लगा रहे सरकारी अधिकारी, अधिकारी अवकाश पर, कमरे में जल रहा हीटर

फरीदकोट/ मित्तल: सरकार के अधिकारी ही सरकार को चूना लगा रहे है। प्रदेश सरकार बिजली संकट से जूझ रही है प्रदेशवासियों को मंहगे दर पर बिजली मिल रही है, फिर भी खर्च के एवज में भरपाई नहीं हो पा रही है। ऐसे में प्रदेश सरकार के कुछ वह अधिकारी अपने दफ्तर में हो या न हो, उनका कमरा पूरी तरह से गर्म होना चाहिए, इसके लिए उनकी अनुपस्थित में भी बिजली के हैवी पावर के हीटर चल रहे हैं। ऐसा ही कुछ नाजारा दिन में 12 बजे सहायक कमिश्नर फूड डाक्टर अमित जोशी के दफ्तर में देखने को मिला, जहां पर वह और उनके दफ्तर का कोई स्टाफ मौजूद नहीं रहा, फिर भी सुबह से ही हीटर चल रहा था। पूछने पर पता चला कि साहब तो छुट्टी पर हैं और उनकी अनुपस्थित में जो दूसरे अधिकारी आज ड्यूटी पर आने वाली थी वह भी किन्हीं कारणों से दफ्तर नहीं आई। ऐसे में बिना किसी अधिकारी व कर्मचारी के बिजली की बर्बादी के सवाल पर कर्मचारियों द्वारा कोई उत्तर नहीं दिया गया। यह आलम किसी एक अधिकारी का नहीं रहा, बल्कि कुछ और अधिकारियों के दफ्तरों में यह नजारा देखने को मिला।

बॉक्स 
जांच के बाद लेंगे एक्शन : डीसी
डिप्टी कमिश्नर विमल कुमार सेतिया ने कहा कि यह स्थित ठीक नहीं है। बिजली हमारी राष्ट्रीय संपत्ति है, इसे संचित करना हम सभी का दायित्व है, वह इस मामले की जांच करवाएंगे और जो भी लोग जिम्मेदार होंगे उनके विरूद्ध एक्शन लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह चाहते है कि बेवजह बिजली की बर्बादी कहीं न हो, क्योंकि हम जितनी बिजली की बचत करते है, उतनी बिजली की बचत करते है।