आम जनता के लिए अच्छी खबर, बढ़ी लागत का बोझ ग्राहकों पर नहीं डालेगी इंडियन ऑयल

नयी दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने शुक्रवार को कहा कि मौजूदा बीएस-4 ईंधन की जगह अगले साल से अनिवार्य बीएस-6 ईंधन के उत्पादन पर आने वाली अतिरिक्त लागत का बोझ वह ग्राहकों पर नहीं डालेगी। 

इंडियन ऑयल के अध्यक्ष संजीव सिंह ने आज यहाँ वित्तीय परिणामों की घोषणा के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में एक प्रश्न के उत्तर में कहा “नहीं, हम बढ़ी हुई लागत का बोझ ग्राहकों पर नहीं डालेंगे।” उन्होंने बताया कि तेल शोधन संयंत्रों को बीएस-6 के उत्पादन के लिए तैयार करने का 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। दिल्ली-एनसीआर और इसके आसपास के 12 जिलों में बीएस-6 ईंधन की आपूर्ति शुरू कर दी गयी है। 

सिंह ने बताया कि अगले साल 01 अप्रैल से पूरे देश में सिर्फ भारत स्टेज (बीएस)-6 मानक के ईंधनों की बिक्री होगी। इसके लिए कंपनी ने अनुसंधान एवं विकास तथा संयंत्रों में बदलाव पर 1,600 करोड़ रुपये का पूँजीगत निवेश किया है। उन्होंने आश्वस्त किया कि अगले साल तय समय तक उसके सभी पेट्रोल पंपों पर बीएस-6 ईंधन उपलब्ध होंगे।