भारत के लिए Good News, अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने बैन हटाया

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने भारत में अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजनों की मेजबानी को लेकर लगाया गया प्रतिबंध गुरुवार को तत्काल प्रभाव से हटा लिया है। आईओसी ने भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष डॉ नरेंद्र ध्रुव बत्रा को लिखे पत्र में यह जानकारी दी है। आईओसी ने कहा, हम आपको यह बताना चाहते हैं कि भारत में किसी भी अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजन की मेजबानी को लेकर लगाए गए प्रतिबंध को हटा लिया गया है और इसकी जानकारी अंतर्राष्ट्रीय खेल महासंघों को भी दे दी गई है।

अंतर्राष्ट्रीय संस्था ने 21 फरवरी 2019 को अपने कार्यकारी बोर्ड द्वारा लिए गए फैसलों के तहत भारत पर अस्थायी तौर पर यह प्रतिबंध लगाया था कि वह अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजनों की मेजबानी नहीं कर पाएगा। आईओसी ने कहा, हमने अपने कार्यकारी बोर्ड की बैठक में सभी परिस्थितियों पर विचार किया। हमें भारत सरकार की तरफ से इस बात की गांरटी का पत्र मिला है कि भारत में अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजनों में भाग लेने वाले एथलीटों और टीमों की भागीदारी को लेकर किसी भी तरह का भेदभाव नहीं किया जाएगा। 

भारत सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजनों में सभी योग्य एथलीटों और प्रतिनिधिमंडल को भारत में प्रवेश करने और हिस्सा लेने दिया जाएगा चाहे वे किसी भी देश के क्यों ना हों। दरअसल इस साल के शुरु में भारत ने निशानेबाजी विश्वकप की मेजबानी की थी और दो पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा ना मिलने का मुद्दा सामने आया था जिसके बाद इन पाकिस्तानी निशानेबाजों की स्पर्धा से ओलंपिक कोटा समाप्त कर दिया गया था। लेकिन इसके बाद आईओसी ने भारत पर खेल आयोजनों की मेजबानी को लेकर अस्थायी तौर पर प्रतिबंध लगा दिया था।

भारत सरकार के खेल सचिव आरएस जुलानिया ने आईओसी को आश्वस्त करने वाला पत्र लिखा था। आईओए के अध्यक्ष बत्रा ने खेल मंत्री किरन रिजिजू को एक पत्र लिखकर बताया कि उन्हें आईओसी से प्रतिबंध हटाने वाला पत्र मिला है और भारत अब किसी भी अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजन की मेजबानी कर सकता है। बत्रा ने खेल मंत्री को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया और साथ ही कहा कि भारत अगले साल के टोक्यो ओलंपिक में दोहरी संख्या में पदक जीतने का लक्ष्य रखता है।