पारदेश्वर सिद्ध पीठ श्री गौरी शंकर मंदिर भगवत कथा का दूसरा दिन संपन्न 

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : आज पारदेश्वर सिद्ध पीठ श्री गौरी शंकर मंदिर में भागवत कथा के दूसरे दिन कथा व्यास स्वामी श्री भक्ति सागर शास्त्री जी महाराज जी ने व्यास गद्दी से भगवान श्रीकृष्ण के चरित्र की व्याख्या की। कथा के साथ भजन गायन के लिए पंडित दुर्गेश शास्त्री, पंडित विवेक, भवानी शास्त्री, अश्विनी कुमार, राकेश शास्त्री, अमित वर्मा, नरेश कुमार, दीनानाथ गुप्ता ने भजन गायन में उनका पूरा साथ दिया। 

इस कथा कार्यक्रम में समूह संगत श्री राधा कृष्ण जी के भजनों में सराबोर होकर प्रभु की भक्ति में लीन होकर झूम झूम कर नाच रही थी। उन्होंने बताया कि श्री भागवत जी बैकुंठपुर प्राप्ति का साधन है भागवत जी का 7 दिन की कथा का महिमा और संत दर्शन का महत्व बताया इसमें भजन मंडली द्वारा चल रे वृंदावन धाम राधे राधे गाएंगे श्यामा श्यामा गाएंगे और जय जय राधा रमण हरि बोल भजन भजनों पर समूह संगत प्रभु की भक्ति में लीन होकर झूम उठे। इसमें मंदिर समिति के अध्यक्ष सरदारी लाल गुप्ता, हजारीलाल शर्मा, मंदिर समिति के सचिव राकेश मल्होत्रा, अशोक टंडन ने भरपूर सहयोग किया एवं भक्ति की धारा का आनंद उठाया। 

यह कार्यक्रम अगले पांच दिनों तक चलने वाला है। श्रीमद् भगवत महापुराण की यह कथा सात दिनों तक चलती है। कथा में भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं की व्याख्या की जाती है। भगवान के कई रूपों और स्वरूपों का गायन और वादन के द्वारा व्याख्या इस कथा की विशेषता है। 

Related Stories: