किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मोदी सरकार वचनबद्ध : गौरव  खुल्लर

गांव-गांव जाकर भाजपा करेगी किसान हितैषी कृषि संबंधी कानूनों के बारे में जागरूक 

जगराओं ( कमलदीप बांसल-राजेश जैन )-
केंद्र की मोदी सरकार तथा कृषि मंत्रालय द्वारा किसानों के हित में पास किए गए कानूनों में किसानों को और अधिक सशक्त करते हुए उनकी रबी की फसलों गेंहू, जौं, सरसों, चना, कुसुम व मसूर की फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ा कर किसानों को तोहफा दिया है। इन् शब्दो का प्रकटावा करते हुए जिला जगराओं के जिलाध्यक्ष गौरव खुल्लर ने कहा कि फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों को बढ़ाकर केंद्र सरकार ने एमएसपी  की आड़ लेकर  कृषि संबंधी कानूनों का विरोध करने वाले सभी विपक्षी दलों तथा अन्य लोगों के मुंह पर तमाचा मारा है।

खुल्लर ने कहा कि सरकार हर फसल सीजन से पहले सीएसीपी यानी कमीशन फॉर एग्रीकल्चर कॉस्ट एंड प्राइसेज की सिफारिश पर न्यूनतम समर्थन मूल्य  तय करती है। यदि किसी फसल की बंपर पैदावार हुई है तो उसकी बाजार में कीमतें बिचौलियों द्वारा कम कर दी जाती हैं, तब एमएसपी किसानों के लिए फिक्स एश्योर्ड प्राइज का काम करती है। उन्होंने कहा कि एमएसपी वह गारंटेड मूल्य है जो किसानों को उनकी फसल पर मिलता है। भले ही बाजार में उस फसल की कीमतें कम हों। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर कई बार साफ कर चुके हैं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य  खत्म नहीं होगा । उन्होंने कहा कि जिन लोगों को कंट्रोल अपने हाथ से निकलता दिख रहा है ,  वे किसानों को गुमराह कर रहे हैं । 

खुल्लर ने कहा कि किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने, किसानों की आय दोगुनी एवं उनके जीवन स्तर में बदलाव लाने के उद्देश्य के लिए मोदी सरकार वचनबद्ध है। गौरव खुल्लर ने  कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा के दिशा-निर्देश पर किसान मोर्चा के कार्यकर्ता अगले एक महीने में प्रदेश के गाँव-गाँव में जाकर किसानों को कृषि संबंधी विधेयकों के बारे में जागरूक करेंगे तथा किसानों के सवालों के जवाब भी देंगे।
इस अवसर पर ज़िला उपाध्यक्ष जगदीश ओहरी , ज़िला सचिव विवेक भारद्वाज , मंडल अध्यक्ष हनी गोयल, पूर्व कौंसलर अंकुश धीर उपस्थित थे।