गब्बर इज बैक : बेड पर लेटकर गृहमंत्री अनिल विज ने संभाली हरियाणा की कमान

अम्बाला (राजेन्द्र भारद्वाज): टांग में फ्रेक्चर के बाद मोहाली के अस्पताल में सफल ऑपरेशन के बाद आखिरकार हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज को 21 जून को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। ऐसे में अब डॉक्टरों ने फ्रेक्चर के चलते विज को कम से कम 2 महीने पूरी तरह आराम की सलाह दी है। लेकिन अपनी कार्यशैली के लिए मशहूर विज ने अपने बेड से ही एक बार फिर पूरे प्रदेश की कमान संभाल ली है। विज ने सबसे पहले बताया कि वो आराम भी कर रहे हैं और अपनी जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं। अस्पताल से लौटे गृह मंत्री अनिल विज ने कोरोना के मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि आज प्रदेश में 10 हजार कोरोना मामलों में से 80 प्रतिशत से ज्यादा दिल्ली से सटे इलाकों के हैं।  विज ने बताया कि उन्होंने पहले ही ये डर जाहिर किया था कि दिल्ली से सटी सीमाएं न खोली जाएं।

देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मौजूदा प्रधानमंत्री को चीन मामले पर नसीहत दी है। इस मुद्दे पर आज विज ने अपने चिर परिचित अंदाज में प्रतिक्रिया दी और कहा कि पीएम मोदी के कहने में पूर्ण स्पष्टत्ता है और उन्होंने डंके की चोट पर अपनी बात कहीं है। विज ने यहा नसीहत देते हुए कहा कि लोगों को अपनी समझने की क्षमता सही करनी चाहिए। पीएम मोदी को राहुल गाँधी ने अपने एक ब्यान में सरेंडर मोदी कहा है। इस मुद्दे पर भी विज ने आज राहुल गाँधी को आड़े हाथों लिया और उन्हें कन्फ्यूज्ड आदमी करार दिया और कहा कि इनकी बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए । विज ने राहुल गाँधी के बयान पर जवाब देते हुए कहा कि अभी ये भी स्पष्ट नहीं है कि राहुल गाँधी सरेंडर बोल रहे हैं या सुरेंद्र यानि देवताओं का भी राजा इंद्र।