हाईकोर्ट से राहत के बाद जालंधर पहुंचे पूर्व मेयर सहगल

बोले, रिश्वतखोरों और महिला से बदसलूकी करने वालों के खिलाफ मेरी जंग जारी रहेगी

जालंधर/एस खन्ना : माननीय हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद जालंधर वापिस लौटे पूर्व मेयर सुरेश सहगल का उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया। समर्थकों ने फूलों के हार पहनाकर जिंदाबाद के जमकर नारे लगाए। गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने पूर्व मेयर सुरेश सहगल को अंतरिम जमानत देते हुए अगली सुनवाई तक उनकी गिरफ्तारी पर स्टे जारी कर दिया था। अगली सुनवाई 13 दिसंबर को होगी। मीडिया में बियान देते हुए पूर्व मेयर सहगल ने कहा कि रिश्वतखोरों और महिला से बदसलूकी करने वालों के खिलाफ मेरी जंग जारी रहेगी। उन्होंने कुछ गलत नहीं किया। वह लोगों के साथ हो रहे अन्याय को बर्दाश्त नहीं कर सकते। निगम मुलाजिम भ्रष्ट हैं, जोकि गरीब लोगों को परेशान करते हैं। उन्होंने कहा कि जब बिल्डिंग इंस्पेक्टर दिनेश जोशी निर्माणधीन मकान में आया था तो घर में सिर्फ अकेली महिला था, जिसके साथ उसने बदसलूकी। वह मौके पर पहुंचे तो उन्होंने बिल्डिंग इंस्पेक्टर से कहा कि गरीब परिवार नोटिस का जवाब दे चुका है तो उन्हें क्यों परेशान किया जा रहा है?

सहगल ने आरोप लगाया कि दिनेश जोशी पहले गरीब परिवार से फीस के नाम पर पांच हजार रूपये ले गया था और बाद में फिर से दस हजार रूपये मांगने आ गया। उन्होंने छुट्टी वाले दिन चैकिंग को आए बिल्डिंग इंस्पेक्टर से आईडी दिखाने को भी कहा था, ताकि पता चल सके कि वह निगम मुलाजिम हैं या कोई ओर। सहगल ने कहा कि पुलिस ने इस मामले की जांच किए बिना ही उन पर और गरीब परिवार पर केस दर्ज कर दिया। वह प्रशासन से जवाब मांगते हैं कि क्या ऐसे ही यूनियनें इक्कठी होकर गरीब लोगों के साथ धक्का करती रहेंगी। गौरतलब है कि 28 अक्तूबर को अवैध इमारत का काम रूकवाने आये बिल्डिंग इंस्पैक्टर दिनेश जोशी के साथ पूर्व मेयर सुरेश सहगल और उनके साथियों ने मारपीट करने के साथ गालियां निकाली थी। इसके बाद निगम प्रशासन की शिकायत पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी। पुलिस ने बिल्डिंग मालिक समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल पहुंचा दिया था।

Related Stories: