इतिहास में पहली बार लोगों ने घरों में रहकर मनाई ईद

यमुनानगर (मेहता): अब तक के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि ईद की नमाज घर में रहकर अदा की गई। कोविड-19 के चलते देश भर में लॉक डाउन किया हुआ है। इसलिए सभी धार्मिक स्थलों को प्रशासन की ओर से बंद किया हुआ है। इसी के चलते सोमवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इसकी पालना करते हुए ईद की नमाज को अपने घरों में ही अपने परिवार वालों से मिलकर अदा किया।

शादीपुर निवासी हाशिम हाजी का कहना है कि सरकार द्वारा कोरोना महामारी में दी गई हिदायतों के चलते हमने परिवार के साथ घर पर ही नमाज को अदा कर ईद मनाई। अब तक के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि ईद की नमाज को ईदगाह में ना पढक़र अपने घरों में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पढ़ा।  मुस्ताक अली व रेशमा ने कहा कि नमाज अदा करने के दौरान अल्लाह से प्रार्थना की गई कि देश में अमन-चैन का माहौल बने और कोरोना जैसी महामारी से सभी को मुक्ति मिले।