निजी वाहनों के पूर्ण उपयोग के लिए वाहन पूलिंग पर हो जोर: मोदी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बताते हुये शुक्रवार को कहा कि निजी वाहनों का पूर्ण उपयोग सुनिश्चित करने के लिए वाहन पूलिंग की संभावनाओं का पूरा लाभ उठाया जाना चाहिए और ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की चाहिए कि भविष्य में निजी वाहनों की तुलना में सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा मिले। 

मोदी ने देश में पर्यावरण अनुकूल एवं इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को बढ़ावा देने पर विचार विमर्श के लिए नीति आयोग द्वारा आयोजित पहले वैश्विक मोबिलिटी शिखर सम्मेलन का यहां शुभारंभ करते हुये कहा कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाला अर्थव्यवस्था है। उन्होंने कहा, इंडिया इज ऑन द मूव, आवर इकोनॉमी इज ऑन द मूव। उन्होंने मोबिलिटी की आवश्यकता और महत्व पर प्रकाश डालते हुये कहा कि मोबिलिटी अर्थव्यवस्था को गति देने वाला मुख्य कारक है। बेहतर मोबिलिटी से यात्रा और परिवहन का बोझ कम होता है तथा इससे अर्थव्यवस्था को गति मिल सकती है। मोबिलिटी रोजगार प्रदान करने वाला बहुत बड़ा क्षेत्र है और इस क्षेत्र में रोजगार के नये अवसर पैदा होने की व्यापक संभावना है। 

उन्होंने कहा कि भारत में भविष्य की मोबिलिटी पर उनका दृष्टिकोण ‘7 सी’ पर आधारित है। इनमें कॉमन, कनेक्टेड, कॉन्वेनियेंट, कंजेशन फ्री, चार्जड, क्लीन, कटिंग ऐज शामिल हैं। उन्होंने मोबिलिटी के दूसरे पहलुओं पर ध्यान केन्द्रित करते हुये कहा कि कनेक्टेड मोबिलिटी से भाैगोलिक एकीकरण के साथ ही परिवहन के साधन जुड़ते हैं। इंटरनेट से जुड़ी भागीदारी वाली अर्थव्यवस्था उभर रही है क्योंकि यह मोबिलिटी का आधार है। उन्होंने कहा कि निजी वाहनों का पूरा उपयोग सुनिश्चित करने के लिए वाहन पूलिंग की पूरी संभावनाओं का लाभ उठाया जाना चाहिए। 

Related Stories: