देशविरोधी गतिविधियों में लिप्त पांच आरोपी गिरफ्तार, ISI के लिए करते थे काम

भोपाल (उत्तम हिन्दू न्यूज): पड़ाेसी देश पाकिस्तान के 'हैंडलर' से संपर्क रखने और उनके निर्देशों पर फर्जी बैंक खातों के जरिए पैसों के लेनदेन करने के मामले में मध्यप्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने सतना जिले से पांच आरोपियों को आज गिरफ्तार कर लिया। 

प्रदेश पुलिस मुख्यालय के अनुसार सुनील सिंह, बलराम सिंह, भागवेंद्र सिंह और शुभम मिश्रा को गिरफ्तार किया गया है। वहीं पांचवे आरोपी के नाम का पता नहीं चल पाया है। आरोप है कि ये पांचों और उनके साथी पाकिस्तान में आईएसआई के संपर्क में आकर काम कर रहे थे, जो भारत विरोधी कार्यों में पहले से ही लिप्त हैं।  

क्राइम ब्रांच को आरोपियों के पास मौजूद फोन और लैपटॉप से 13 पाकिस्तानी नंबर मिले हैं। इन नंबरों के जरिए वह आतंकियों के फंड मैनेजर से वीडियो कॉलिंग, मैसेंजर कॉल और व्हाट्सएप चैट किया करते थे। सूत्रों ने बताया कि बलराम गिरफ्तारी के बाद जमानत पर बाहर आया था और उसने दोबारा यह काम शुरू कर दिया।

बताया जा रहा है कि आरोपी पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से बात किया करते थे। इसके बाद अपने खाते में पैसा जमा करवाकर उन्हें आतंकियों तक सप्लाई करते थे। आरोपी बिहार, झारखंड और छत्तीसगढ़ से जुड़े संदिग्ध लोगों को बैंक खातों और हवाला के जरिए कमीशन के आधार पर पैसे ट्रांसफर करते थे।