14 फरवरी का दिन पंजाब में लोकतंत्र के लिए काला दिन : अमन अरोड़ा

-कैप्टन चुनाव के दौरान राज्य की कानून व्यवस्था बनाए रखने में विफल 
चंडीगढ़ (विज):
नगर निकाय चुनावों के मतदान के दिन कांग्रेस के गुंडों द्वारा हिंसा और बूथ कैप्चरिंग की घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आम आदमी पार्टी ने कहा कि यह पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा लोकतंत्र पर किया गया हमला है।

सोमवार को पार्टी मुख्यालय में प्रैस कांफ्रैंस के दौरान मीडिया को संबोधित करते हुए आप के वरिष्ठ नेता और विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि 14 फरवरी का दिन पंजाब में लोकतंत्र के लिए काला दिन था। उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के लिए बेहद शर्म की बात है कि राज्य के गृह मंत्री होने के बावजूद उन्होंने चुनावों को लूटने की कोशिश की और अपने गुंडों की मदद से लोकतंत्र की हत्या करवाई। कैप्टन चुनाव के दौरान राज्य की कानून व्यवस्था बनाए रखने में बुरी तरह विफल रहे। उन्होंने मतदान के दौरान लोगों के वोट के अधिकार को छीनने और लोकतांत्रिक व्यवस्था को खराब करने की कोशिश की।

उन्होंने कहा कि कैप्टन लोगों की उम्मीदों को पूरा करने में विफल रहे और जब लोग बदलाव के लिए मतदान करने निकले, तो उन्होंने अपने गुंडों से हिंसा करवाई और लोगों को मतदान करने से रोकने की कोशिश की। हिंसा की घटना पर कैप्टन की चुप्पी यह साबित करती है इन हिंसक कृत्यों का संचालन मुख्यमंत्री खुद कर रहे थे। कैप्टन राज्य के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री होने के बावजूद लोगों के वोट के अधिकार की रक्षा की रक्षा नहीं कर सकें।

चुनाव के दौरान राज्य की कानून-व्यवस्था बनाए रखने में नाकाम होने के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह तुरंत इस्तीफा दें। उन्होंने चुनाव आयोग और पुलिस पर सवाल उठाते हुए कहा कि मतदान के दिन हुई सभी घटनाओं ने साबित कर दिया कि चुनाव आयोग और पुलिस दोनों ने कैप्टन अमरिंदर सरकार के इशारे पर काम किया। 2022 में आप की सरकार बनने के बाद कांग्रेस के गुंडों की धुन पर नाचने वाले सिविल और पुलिस अधिकारियों को अपने किए का अंजाम भुगतना होगा। 


उन्होंने कहा कि समाना और राजपुरा में कांग्रेस के गुंडों ने मतदान केंद्रों में प्रवेश किया और मतदाताओं को धमकाकर बाहर निकाल दिया और दरवाजे बंद कर दिए। चुनाव अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए अरोड़ा ने कहा कि पीठासीन अधिकारी ने इन गुंडों की सहायता की और उनकी सहायता से कांग्रेस के गुंडे फर्जी वोट डालते गए। उन्होंने मतदान केंद्र के अंदर का एक वीडियो मीडिया के साथ साझा किया और दिखाया कि कैसे कांग्रेस का एक गुंडा अधिकारियों के बिना किसी प्रतिरोध के बार-बार कांग्रेस का बटन दबा रहा था। जब हमारे कार्यकर्ताओं ने इसके खिलाफ आवाज उठाई तो उनकी कांग्रेस के गुंडे और पुलिस ने बेरहमी से पिटाई की। वहीं पट्टी में कांग्रेस के गुंडों ने पिस्तौल के साथ मतदान केंद्र में प्रवेश किया और सभी मतदाताओं को मतदान केंद्र खाली करने की धमकी दी। जब आप कार्यकर्ताओं वहां जमा हुए और उन गुंडों को रोकने की कोशिश की तो उन गुंडों ने हमारे कार्यकर्ताओं से हाथापाई की और उनपर गोली चलाई। गोली लगने से एक आप कार्यकर्ता मनवीर सिंह गंभीर रुप से घायल हो गए। वे अमृतसर के एक अस्पताल में भर्ती हैं।