नसबंदी के डर से अस्पताल से भागी गर्भवती महिला, घर पर दिया 11वें बच्चे को जन्म

नई दिल्ली(उत्तम हिन्दू न्यूज)- नसबंदी के डर से तमिलनाडु में त्रिची के एक अस्पताल से प्रसव के दौरान महिला भाग गई और घर पर 11वें बच्चे को जन्म दिया। 

मुसीरी इलाके की रहने वाली 45 वर्षीय शांति के 11 बच्चे थे जिनमें से 2 की मौत हो चुकी है और 8 बच्चे जिंदा है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी 25 अक्टूबर को शांति के घर गए। उन्होंने शांति को अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन वह अस्पताल से भाग निकली। उसने अस्पताल में डिलिवरी कराने से इनकार कर दिया क्योंकि उसे डर था कि अस्पताल में उसकी नसबंदी कर दी जाएगी।  

उन्होंने बताया कि उन लोगों को सोमवार को पता चला कि उसने घर पर बच्चे को जन्म दिया है। जानकारी होने पर हम लोग उसके घर गए और नवजात के साथ उसे पीएचसी में भर्ती कराया। महिला ने बताया कि उसने अपनी नसबंदी के लिए सहमति दे दी थी लेकिन वह चाहती है कि उसकी लैप्रोस्कोपी नसबंदी की जाए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि लैप्रोस्कोपी नसबंदी डिलिवरी के 40 दिनों बाद ही संभव है। 



Related Stories: