कृषि कानूनों के खिलाफ किसान जत्थेबंदियों ने निकाला कैंडल मार्च

पठानकोट (अजय सैनी): संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानून के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला गया।
 

इस दौरान गुरदयाल सैनी एवं अन्य वक्ताओं ने कहा कि केंद्र में बैठी मोदी सरकार का तानाशाही रवैया अब तक बरकरार हैं।  जिससे साफ जाहिर होता है कि मोदी सरकार किसान विरोधी कानूनों को लाने पर अड़ी हुई है लेकिन देश के लोग किसानों के साथ है क्योंकि यह तीन काले कानून किसानों के भविष्य को बर्बाद कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि देशवासी अपने किसान भाइयों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं और उनके भविष्य को बर्बाद करने वाले इन काले कानूनों को वह कभी भी लागू नहीं होने देंगे।
 

उन्होंने कहा कि आज मोदी सरकार की नीतियों के कारण किसान, मजदूर, कर्मचारी एवं देश का हर वर्ग परेशान हो चुका है, परंतु मोदी सरकार को लोगों की इन परेशानियों से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक इन काले कानूनों को वापस नहीं लिया जाता तब तक हम किसान जत्थेबंदिया इसके खिलाफ संघर्ष करती रहेंगी। इस दौरान काफी संख्या में किसान जत्थेबंदियों के सदस्य उपस्थित थे।