जमीनी विवाद के चलते गांव छोडऩे को मजबूर पीडि़त परिवार

फरीदाबाद (मनोज तोमर): जमीनी विवाद के चलते एक परिवार ने दूसरे परिवार को बुरी तरह पीटा। यह पूरा मामला सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गया लेकिन पुलिस ने नहीं की कार्रवाई, जिसके चलते अब पीडि़त परिवार गांव छोडकऱ जाने को मजबूर है। कुम्भकर्णी नींद में सोई फरीदाबाद पुलिस। जी हाँ यह बात हम इसलिए कह रहे है क्योंकि झगड़े में घायल एक पीडि़त परिवार फरीदाबाद में पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट होकर अब गांव छोडऩे को मजबूर है । घटना दिल्ली से सटे थाना सूरजकुंड इलाके के पल्ला की है। पीडि़त परिवार के मुताबिक जमीनी विवाद के चलते उन्हीं के परिवार के सदस्यों ने उन्हें बुरी तरह पीटा जिसके चलते परिवार के कई सदस्य गंभीर रूप से घायल हुए थे । घटना लगभग 20 पहले की है तब मारपीट की वीडियो सहित पीडि़त परिवार ने थाना सूरजकुंड को इसकी शिकायत की थी लेकिन पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कि इसी बीच आरोपियों ने उनपर फिर दुबारा लगभग 8 दिन पहले हमला कर घायल कर दिया। जिसकी शिकायत उन्होंने फिर पुलिस से लेकिन पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। उल्टे हमला करने वाला परिवार उन्हें फिर जान से मारने की धमकियां दे रहा है।

अब तीसरी बार मारपीट और झगड़े के डर और पुलिस की कार्यवाही से असंतुष्ट होकर वह अब गांव छोडकऱ जाने के लिए मजबूर है। इस झगड़े में एक परिवार के कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे । जिसकी शिकायत पीडि़त परिवार ने पुलिस से की थी और यह मारपीट का वीडियो भी पुलिस के सामने पेश किया था लेकिन पुलिस ने तो उनका मेडिकल कराने की जहमत उठाई और बल्कि आज तक मौके पर जाकर मौका मुआयना भी नहीं किया। पीडि़त परिवार के मुताबिक शिकायत करने के बाद भी आरोपी पक्ष उन्हें बार-बार धमकियां दे रहा है और 8 दिन पहले भी उन्होंने उन पर हमला किया था । पीडि़त परिवार का कहना है कि मारपीट करने वाले आरोपी उन्हीं के परिवार के सदस्य हैं उन्होंने उनकी ढाई एकड़ जमीन पर फर्जी कागज बनाकर कब्जा किया हुआ है जबकि असल कागज उनके पास है और जमीन की मुटेशन भी उनके नाम है । लेकिन आरोपी दबंग है और वह कब्जा नहीं छोड़ता। इसी बात को लेकर विवाद था और आरोपी पक्ष ने इसी को लेकर उन पर हमला बोल दिया। पीडि़त रंजीत सिंह के मुताबिक इस झगड़े में कई लोग घायल हुए थे।

 जिसकी शिकायत पुलिस को दी गई थी। लेकिन पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। जबकि उनके साथ दो बार आरोपी पक्ष मारपीट कर चुका है और बार-बार जान से मारने की धमकियां दे रहा है। अब पीडि़त परिवार आरोपियों की बार बार धमकी, मारपीट के डर और पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट होकर गांव छोडऩे की बात कह रहा है । वहीं जब इस मामले में पुलिस प्रवक्ता सुबह सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पीडि़त परिवार के बयान पर थाना सूरजकुंड में मामला दर्ज कर जांच की जा रही है क्योंकि मामला जमीन विवाद का है इसलिए कार्रवाई करने में थोड़ा समय लग रहा है।