+

GNDU द्वारा मैडम गुरजोत कौर के बतौर बोर्ड ऑफ कंट्रोल के सदस्य के रूप में कार्यकाल में वृद्धि

अमृतसर (उत्तम हिन्दू न्यूज): गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर ने एक अहम फैसला लेते हुए पंजाब, पंजाबी व पंजाबियत के अलम्बरदार संस्थान ‘अजीत प्रकाशन समूह’ की सीनियर एग्ज़ीक्यूटिव
GNDU द्वारा मैडम गुरजोत कौर के बतौर बोर्ड ऑफ कंट्रोल के सदस्य के रूप में कार्यकाल में वृद्धि

अमृतसर (उत्तम हिन्दू न्यूज): गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर ने एक अहम फैसला लेते हुए पंजाब, पंजाबी व पंजाबियत के अलम्बरदार संस्थान ‘अजीत प्रकाशन समूह’ की सीनियर एग्ज़ीक्यूटिव मैडम गुरजोत कौर को गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी के बोर्ड ऑफ कंट्रोल के सदस्य के कार्यकाल को बढ़ाते हुए 1 वर्ष की और वृद्धि कर दी है। वह इस पद पर 1 जुलाई 2021 से लेकर 30 जून 2022 तक अपनी सेवाएं निभाएंगी। मैडम गुरजोत कौर बोर्ड ऑफ कंट्रोल के साथ-साथ यूनिवर्सिटी के बोर्ड ऑफ स्टडीज़ की सदस्य भी बनी रहेंगी। उनकी नियुक्ति बोर्ड ऑफ कंट्रोल में पंजाबी विषय पर की गई है। वर्णनीय है कि बोर्ड ऑफ कंट्रोल गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी की सबसे अहम संस्था है। बोर्ड ऑफ कंट्रोल ने ही पंजाबी विषय का प्राथमिक से लेकर पीएचडी तक पाठ्यक्रम तैयार करना होता है।

इस संबंधी मैडम गुरजोत कौर ने यूनिवर्सिटी द्वारा साैंपी गई जि़म्मेवारी के लिए उप कुलपति प्रो. जसपाल सिंह संधू का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा ही अपने परिवार विशेष रूप से पिता पद्म विभूषण डॉ. बरजिन्दर ङ्क्षसह हमदर्द से पंजाबी भाषा के प्रचार व प्रसार के लिए काम करने संबंधी बहुत कुछ सीखा है और उनकी प्रेरणा से ही वह हमेशा मां बोली (मातृभाषा) पंजाबी को प्रफुल्लित करने के लिए प्रयत्नशील रही हैं और ऐसे में वह यूनिवर्सिटी द्वारा दी गई जि़म्मेवारी को निभाने के लिए हरसम्भव प्रयास करेंगी ताकि मातृभाषा पंजाबी को जहां बनता मान-सम्मान मिलता रहे, वहीं वर्तमान में विद्यार्थियों के लिए पंजाबी भाषा में अधिकतर रोज़गार के स्रोत पैदा करने के लिए आवश्यक कदम व आधुनिक ढंग से मातृभाषा को और प्रफुल्लित करने के लिए हमेशा की तरह तत्पर रहेंगी। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी ने अन्य भाषाओं के साथ-साथ पंजाबी मां बोली (मातृभाषा) को भी प्रोत्साहित करने के लिए बड़े मीलपत्थर स्थापित किए हैं।

शेयर करें
facebook twitter