Exit Polls सही साबित हुए तो अकेले भी 300 के पार जा सकती है बीजेपी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): लोकसभा चुनाव के लिए आखिरी चरण का मतदान खत्म होते ही आए एक्जिट पोल्स ने देशभर में राजनीतिक माहौल गर्मा दिया है। अब सबकी निगाहें 23 मई को होने वाले मतदान पर टिकी हैं, लेकिन अगर एग्जिट पोल्स की मानें तो इस बार बीजेपी की बल्ले बल्ले होने वाली है। कुछ एग्जिट पोल्स की मानें तो बीजेपी पिछली बार के अपने अब तक के सर्वश्रेष्ठ रेकॉर्ड (282 सीट) को भी ध्वस्त कर सकती है। उनमें अकेले बीजेपी को बहुमत की भविष्यवाणी की गई हैं और सीटें भी 300 के पार। 

एग्जिट पोल दिखा रहे हैं कि 2019 में एक बार फिर मोदी मैजिक चल रहा है। साफ संदेश मिल रहा है कि देश में नरेंद्र मोदी निर्विवाद रूप से सबसे लोकप्रिय नेता हैं। राष्ट्रवाद के साथ जुड़कर यह मोदी लहर और मजबूत होकर उभरी है। महागठबंधन और अन्य क्षेत्रीय दलों की एकजुटता के बावजूद मोदी का जादू बरकरार दिख रहा है। उनके सामने विपक्ष का कोई नेता टिकता नजर नहीं आ रहा है। 

सत्ताधारी नैशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (NDA) को टाइम्स नाउ-VMR एग्जिट पोल ने 304, न्यूज24-टुडेज चाणक्य ने 350, इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया ने 339-365 और सी वोटर ने 287 सीटों का अनुमान लगाया है। इसमें भी अगर अकेले बीजेपी की बात करें तो 2014 के नतीजों की लगभग सटीक भविष्यवाणी करने वाले न्यूज24-टुडेज चाणक्य ने 300 सीटों का अनुमान लगाया है। इसी तरह, इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया ने अकेले बीजेपी को 293 से 316 सीटों यानी इसका औसत लें तो 304 सीटों की भविष्यवाणी की है। टाइम्स नाउ-VMR ने अकेले बीजेपी को 262 और सी वोटर ने 236 सीटों की भविष्यवाणी की है। 2014 में बीजेपी को 282 और एनडीए को 336 सीटें मिली थीं। 

अकेले बीजेपी को 300 या उससे ऊपर सीटों की भविष्यवाणी करने वाले टुडेज चाणक्य और एक्सिस माय इंडिया के मुताबिक यूपी में एसपी-बीएसपी गठबंधन बीजेपी को रोकने में नाकाम दिख रहा है। एक्सिस माय इंडिया के मुताबिक यूपी की 80 सीटों में एनडीए को 62-68 सीटें मिल सकती हैं। इसमें अकेले बीजेपी 60-66 और सहयोगी अपना दल को 2 सीटें मिल सकती हैं। एसपी-बीएसपी गठबंधन को 10-16 और कांग्रेस को 1 से 2 सीटें मिल सकती हैं। इसी तरह टुडे चाणक्य एग्जिट पोल के मुताबिक यूपी में एनडीए को 65 ( -8) सीटें यानी 57 से लेकर 73 तक सीटें मिल सकती हैं। 

बीजेपी नई जमीन बनाने में भी कामयाब 
पोल दिखा रहे हैं कि बीजेपी नए राज्यों में अपना विस्तार करने में कामयाब हो रही है। खासकर बीजेडी शासित ओडिशा और तृणमूल कांग्रेस की सरकार वाले पश्चिम बंगाल में बीजेपी को शानदार सफलता हासिल होने के संकेत हैं। पहले से हिंदी पट्टी में मजबूत बीजेपी ने वहां बाकी दलों को बैकफुट पर धकेल दिया है। इससे बीजेपी में अमित शाह की छवि व धाक मजबूत होगी। राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, दिल्ली जैसे राज्यों में बीजेपी पिछली बार की तरह लगभग क्लीन स्वीप करती दिख रही है।