बिहार के सभी जिलों में खुलेंगे ईएसआईसी के अस्पताल

पटना (उत्तम हिन्दू न्यूज): बिहार राज्य के सभी 38 जिलों में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) के अस्पताल खुलेंगे। इन अस्पतालों का संचालन भी ईएसआईसी ही करेगा। इस प्रस्ताव को भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने मंजूरी दी है। बिहार कर्मचारी राज्य बीमा निगम के क्षेत्रीय निदेशक अरविंद कुमार ने गुरुवार को कहा कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने बिहार के सभी 38 जिलों में स्पेशल अस्पताल खोलने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है, इसके बाद अस्पताल खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। 

उन्होंने दावा किया कि अगले दो से तीन महीने के अंदर 16 जिलों में ये अस्पताल कार्य करने लगेंगी। उन्होंने कहा कि इन सभी 16 जिलों में अस्पताल के लिए जगह भी मिल गई है। ऐसा नहीं कि बिहार में इएसआइसी के अस्पताल नहीं है। बिहार में फिलहाल इएसआइसी के 17 अस्पताल हैं, जिसका संचालन राज्य सरकार करती है। इन सभी अस्पतालों में चिकित्सकों और कर्मचारियों की नियुक्ति भी राज्य सरकार करती है। 

सूत्रों का कहना है कि इन अस्पतालों की मिल रही शिकायतों के कारण मंत्रालय ने न केवल बिहार के सभी जिलों में ईएसआईसी अस्पताल खोलने का निर्णय लिया है, बल्कि इन अस्पतालों का संचालन भी ईएसआईसी स्वयं करेगा। इन सभी अस्पतालों में डॉक्टर, स्टाफ नर्स, फार्मासिस्ट के साथ ब्रांच मैनेजर की नियुक्ति होगी। 

इसके साथ ही प्रशासनिक कार्यो के लिए भी कर्मचारियों की नियुक्ति होगी। क्षेत्रीय निदेशक ने बताया कि अस्पताल भवन किराए पर लेने के लिए टेंडर (निविदा) जारी कर दिया गया है। प्रत्येक अस्पताल 2500 वर्गफीट में फैला होगा। उन्होंने बताया कि 16 जिलों में जगह मिल गई है, जबकि अन्य जिलों के लिए निविदा निकाली गई है। उन्होंने बताया कि स्टाफ नर्स और फार्मासिस्ट की नियुक्ति भी कर ली गई है। सभी 38 जिलों में अस्पताल के खुल जाने से ईएसआईसी से संबद्ध राज्य के 6 लाख 50 हजार कर्मचारियों को लाभ मिलने का अनुमान है।