AAP की मुश्किलें बढ़ीं, चुनाव आयोग ने मांगा चंदे का हिसाब

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी की मुश्किलें बढऩे वाली हैं। आज चुनाव आयोग ने पार्टी को नोटिस जारी कर चंदे को लेकर सवाल पूछा है। ये सवाल वित्त वर्ष 2014-15 के आंकड़ों को लेकर पूछा गया है। नोटिस में पार्टी के आयकर विवरण और आयोग को दिए गए दस्तावेज़ों में अंतर बताया गया है। आयोग की ओर से कहा गया है कि पार्टी को चंदे में मिली रकम का हिसाब अलग-अलग है। मुख्य तौर से आम आदमी पार्टी के खिलाफ तीन आरोप लगाए गए हैं। आप नेताओं ने हवाला डीलर्स के जरिए दान ली और वेबसाइट पर दान के संबंध में गलत जानकारी दी गई। इसके साथ ही 13.16 करोड़ की दान की रकम का कोई हिसाब किताब नहीं है। इसके अलावा ये भी आरोप है कि दानदाताओं के बारे में सही जानकारी नहीं दी गई है। 

दरअसल इनकम टैक्स विभाग ने चुनाव आयोग को जो रिपोर्ट भेजी उसमें तीन आरोप हैं। पहला आम आदमी पार्टी के बैंक खाते में 67.67 रुपये क्रेडिट हुए जबकि पार्टी ने अपने खातों में 54.15 करोड़ रुपए ही दिखाए यानी 13.16 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं मिला और यह अज्ञात स्रोतों से माने गए। इसी प्रकार हवाला कारोबारी से पैसा रिपोर्ट में कहा गया है कि आम आदमी पार्टी ने 2 करोड रुपए हवाला ऑपरेटर से लिए और इनको चंदे के रुप में दिखाया। साथ ही रिपोर्ट में कहा गया कि आम आदमी पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर और चुनाव आयोग को चंदे की गलत जानकारी दी।  
 

Related Stories: