Wednesday, November 14, 2018 12:13 PM

पर्ल ग्रुप पर बड़ी कार्रवाई, ईडी ने जब्‍त की 472 करोड़ की संपत्ति 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पर्ल ग्रुप के मालिक निर्मल सिंह भंगू और दूसरे आरोपियों के खिलाफ पोंजी स्कीम मामले में मनी लॉड्रिग कानून के तहत चार्जशीट दाखिल की है। ये चार्जशीट दिल्ली की एक अदालत में दाखिल की गई है। बता दें कि पोंजी स्कीम घोटाला 45 हजार करोड़ रुपए से अधिक का था। इससे पूर्व ईडी ने इस मामले में भंगू की आस्ट्रेलिया में 472 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की थी, जिसमें दो होटल और कुछ जमीन थी। 

चार्जशीट में भंगू के अलावा प्रवर्तन निदेशालय ने उसके तीन साथियों को भी आरोपी बताया है। ईडी की चार्जशीट में भंगू और उसके तीन साथियों पर भी मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत आरोपी बनाया गया है। आपको बता दें कि इस मामले में साल 2015 में सीबीआई ने भंगू और अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया था, जिसके बाद ईडी ने भंगू की ऑस्ट्रेलिया स्थित 472 करोड़ रुपए की संपत्ति को जब्त कर लिया था। 

गौर हो कि पर्ल्स ग्रुप के संस्थापक निर्मल सिंह भंगू समेत ये चारों लोग बीते लंबे समय से न्यायिक हिरासत में हैं। भंगू को 45 करोड़ से ज्यादा के पोंजी स्कीम घोटाले में सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही इस मामले के अन्य आरोपित पीएसीएल के एमडी सुखदेव सिंह, गुरमीत सिंह, सुब्रत भट्टाचार्य को भी पोंजी स्कीम केस के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था। इसके साथ ही मनी लांड्रिंग निषेध कानून के तहत देश के प्रमुख शहरों दिल्ली, मुंबई, मोहाली, चंडीगढ़ और जयपुर छापेमारी भी की गई थी। 

इस घोटाले की जानकारी न रखने वालों को बता दें कि पीएसीएल ने रीयल एस्टेट प्रोजेक्ट के नाम पर बिना पूंजी बाजार नियामक की मंजूरी लिए सामूहिक निवेश योजनाएं यानी पोंजी स्कीम चलाईं। भंगू सिंह ने निवेशकों को भारी रिटर्न का लालच देकर उनसे काफी धन इकट्ठा किया था। इसके जरिए निवेशकों से करीब 45 हजार करोड़ रुपये जुटाए गए थे। इसमें देशभर के 5.5 करोड़ निवेशकों ने पैसा लगाया था।इसके बाद भंगू ने लोगों से हजारों करोड़ रुपये इकट्ठा करके विदेशों में लगा दिया और रिटर्न के नाम पर निवेशकों के हाथ खाली के खाली रह गए।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।