महिलाओं के बिना धरती बंजर है : दिव्या खोसला कुमार

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज):अभिनेत्री और फिल्मकार दिव्या खोसला कुमार का ऐसा मानना है कि महिलाओं के बिना यह धरती बंजर होती और इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि उनकी आसपास की कई महिलाएं काफी प्रेरणादायक हैं। दिव्या ने कहा, "मैं एक महिला होने के नाते बेहद गर्व महसूस करती हूं क्योंकि एक औरत के रूप में जन्म लेना काफी खूबसूरत बात है। मेरे ख्याल से पुरुष इस बात को कभी नहीं समझ पाएंगे कि एक महिला के तौर पर पैदा होना कितनी अच्छी बात है क्योंकि आप नाजुक होते हैं, आपमें देखभाल करने के गुण होते हैं, आपके पास इस संसार को देने लायक बहुत कुछ है। मुझे लगता है कि महिलाओं के बिना यह धरती बंजर होती। मैं एक ऐसी दुनिया की कल्पना भी नहीं कर सकती।"

उन्होंने आगे कहा, "महिलाएं काफी भावुक होती हैं और महिला होने की बात पर मुझे गर्व है। आपको तब भी गर्व का अनुभव होता है, जब आप अपने आसपास की प्रेरणादायक महिलाओं को देखते हैं। मेरा मानना है कि आज के समय में हर एक महिला संसार में अपना योगदान दे रही हैं। अपने चारों ओर की महिलाओं को देखकर मैं हमेशा बहुत प्रेरित होती हूं।"

फिल्मों की बात करें, तो आने वाले समय में दिव्या, जॉन अब्राहम अभिनीत फिल्म 'सत्यमेव जयते 2' में दिखाई देंगी। यह फिल्म 2 अक्टूबर को रिलीज होगी।

उन्होंने इस बारे में कहा, "मैं फिल्म में जॉन अब्राहम के अपोजिट हूं। यह एक देशभक्ति फिल्म है। मैं इसके बारे में ज्यादा नहीं बता सकती, लेकिन इतना जरूर कहूंगी कि मैं अपने किरदार के लिए बहुत रोमांचित हूं।"

यह साल 2018 में इसी नाम से आई फिल्म का सीक्वेल है। भूषण कुमार और निखिल आडवाणी इसके सह-निर्माता हैं। मिलाप जावेरी इसके निर्देशक हैं।