पंचतत्व में विलीन हुए डॉ. जगन्नाथ मिश्रा

सुपौल (उत्तम हिन्दू न्यूज)- बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्रा का आज यहां के बलुआ बाजार पंचमुखी हनुमान मंदिर परिसर में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। डॉ. मिश्रा का अंतिम संस्कार यहां उनके पैतृक गांव बलुआ में किया गया। मुखाग्नि उनके बड़े पुत्र संजीव मिश्रा ने दी। मिथिला के सपूत डॉ. मिश्रा को अंतिम विदाई देने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। चिता की अग्नि धधकते ही जगन्नाथ मिश्रा अमर रहे के नारे गूंजने लगे। 


डॉ. मिश्रा का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया लेकिन इस विशेष मौके पर बिहार पुलिस की पोल खुल गई। दिवंगत नेता के सम्मान में गार्ड ऑफ ऑनर के लिए लगाए गए 22 पुलिस के जवानों की बंदूकों से एक भी गोली नहीं चल सकी। सभी बंदूकें फेल कर गई। इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक अब्दुल बारी सिद्दीकी, दरभंगा से भारतीय जनता पार्टी के सांसद गोपाल जी ठाकुर, पूर्व मंत्री अब्दुल गफूर और बड़ी संख्या में विभिन्न दलों के नेता एवं कार्यकर्ता समेत स्थानीय लोग मौजूद थे।