दिल्ली में 19 विपक्षी दलों की बैठक, EVM विवाद और साझा रणनीति पर करेंगे चर्चा

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): लोकसभा चुनाव नतीजे आने से पहले विपक्षी दल अपनी साझा रणनीति बनाने में जुटे हुए हैं। दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में फिलहाल 19 विपक्षी दलों की संयुक्त बैठक चल रही है, जिसकी अध्यक्षता आंध्र प्रदेश के सीएम और टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक इस मीटिंग में 100 फीसदी ईवीएम के साथ वीवीपैट की मिलान की मांग को लेकर विपक्ष की ओर से चुनाव आयोग से मुलाकात को लेकर चर्चा हो रही है। इसके अलावा गैर-एनडीए सरकार की संभावनाओं को लेकर भी इस मीटिंग में बात हो सकती है। 

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस समेत टीडीपी, वाम दलों, बीएसपी, एसपी एनसीपी और टीएमसी के नेता बैठक में हिस्सा ले रहे हैं। कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजाद, बीएसपी के सतीश चंद्र मिश्रा, एनसीपी चीफ शरद पवार और वामपंथी दलों से सीताराम येचरी जैसा नेता इस बैठक में शामिल हैं। टीएमसी की ममता बनर्जी ने डेरेक ओ ब्रायन और एसपी चीफ अखिलेश ने रामगोपाल यादव को मीटिंग में अपने प्रतिनिधि के तौर पर भेजा है। 

भले ही एग्जिट पोल्स में बीजेपी की सरकार बताई गई है, लेकिन विपक्षी दल इसे खारिज करते हुए गैर-एनडीए सरकार के गठन की संभावनाएं तलाश रहे हैं। विपक्षी नेताओं ने एग्जिट पोल्स को गलत करार देते हुए बीते दौर के कई उदाहरणों को गिनाया है। इसके अलावा हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के चुनावों की भी चर्चा की जा रही है, जहां एग्जिट पोल्स पूरी तरह से गलत साबित हुए। 

बता दें कि मंगलवार की मीटिंग से पहले सोमवार को भी टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू ने कई नेताओं से मुलाकात की थी। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मीटिंग की थी। इसके अलावा पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से मिलने के लिए कोलकाता भी पहुंचे थे।