धोनी ने दिया संन्यास लेने का संकेत, क्रिकेट छोड़ करना चाहते हैं ये काम 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): इंग्लैंड में इस महीने 30 मई से शुरू होने जा रहे आईसीसी विश्वकप में कुछ ही दिनों का ही समय बचा है, लेकिन पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के इस टूर्नामेंट के बाद संन्यास लेने की अटकलें लंबे अर्से से जारी हैं जिसे उनके एक वायरल वीडियो ने और भी हवा दे दी है।

विराट कोहली की कप्तानी में इंग्लैंड एंड वेल्स में भारतीय टीम आईसीसी विश्वकप में खिताब की दावेदार के तौर पर उतरने जा रही है जिसमें अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज़ और पूर्व कप्तान धोनी भी शामिल हैं। पिछले काफी समय से यह अटकलें जारी हैं कि यह टूर्नामेंट धोनी का आखिरी विश्वकप होगा और वह इसके बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगे।

धाेनी ने अभी तक रिटायरमेंट के इस सवाल का जवाब नहीं दिया है, लेकिन विश्वकप के शुरू होने से चंद दिन पहले उन्होंने यह कहकर कि वह क्रिकेट छोड़ने के बाद क्या करेंगे, संकेत दे दिये हैं कि संभवत: वह विश्वकप में आखिरी बार ही भारतीय जर्सी पहनकर उतरेंगे।

एक वायरल वीडियो में धोनी को कहते हुये सुना जा सकता है कि वह रिटायरमेंट लेने के बाद पेंटिंग करेंगे और इसे ही अपना करियर बनाएंगे। सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में धोनी अपनी कुछ पेंटिंग दिखाते हुये भी दिख रहे हैं और उनके प्रशंसकों की प्रतिक्रिया भी इस पर देखी जा सकती है।

धोनी ने वीडियो में कहा,“मैं एक राज़ सभी के साथ साझा करना चाहता हूं। मैं बचपन से ही कलाकार बनना चाहता था और अब जब मैंने काफी क्रिकेट खेल लिया है मैंने फैसला किया है कि अब मैं वह करूंगा जो करना चाहता था, इसलिये मैंने कई पेंटिंग बनाई हैं।”

पूर्व भारतीय कप्तान ने कई पेंटिंग भी इस वीडियो में दिखाईं। एक पेंटिंग प्राकृतिक चित्र है तो दूसरी में वह बता रहे हैं कि यह चित्र भविष्य का कोई यातायात का साधन हो सकता है। आखिरी पेंटिंग को अपनी पसंदीदा बताते हुये उन्होंने कहा कि यह चित्र उनका चेन्नई सुपरकिंग्स की जर्सी में बल्लेबाजी करते हुये।” 

विकेटकीपर ने हालांकि यह साफ नहीं कहा कि वह कब संन्यास लेंगे। धोनी की कप्तानी में चेन्नई ने इस वर्ष फाइनल में जगह बनाई थी जबकि उन्होंने यह साफ किया कि वह अगले आईपीएल में भी चेन्नई के लिये खेलेंगे।

धोनी वर्ष 2014 में टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके हैं जबकि 341 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने 50.72 के औसत से 10,500 रन बनाये हैं जिसमें 71 अर्धशतक और 10 शतक शामिल हैं।