जादू-टोने के शक में दलित महिला की पीट-पीटकर हत्या

सासाराम (उत्तम हिन्दू न्यूज) : बिहार में एक दलित महिला की पीट-पीटकर हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि राज्य के सासाराम जिले में जादू-टोना के शक से उपजे विवाद के बाद चार लोगों ने एक महिला की हत्या कर डाली। ये घटना इलाके के आंबेडकर चौक से सटे नहर किनारे दलित बस्ती की है। मामला प्रकाश में आते ही पुलिस ने चार में से तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट के समक्ष पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।  

मामले की जानकारी देते हुए डेहरी थाना प्रभारी धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि विश्वनाथ राम और उनकी पत्नी माला देवी का पड़ोसी रंगबहादुर डोम, रामवतार डोम और हीरामुनी देवी का विवाद चल रहा था। माला के बेटों का मानना था उसके माता-पिता की तबीयत पड़ोसियों द्वारा किए गए जादू-टोना के कारण खराब रहती है। इस पर उन्होंने पड़ोसी के परिवार के एक युवक की पिटाई की थी। इसका बदला लेने के लिए पड़ोस के चार लोगों ने माला देवी को पीट डाला। इसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस मामले में रंगबहादुर डोम, रामवतार डोम और हीरामुनी देवी को गिरफ्तार किया गया है।

बीते दिनों दोनों पक्षों में जमकर मारपीट और पथराव भी हुआ था। डेहरी एसडीपीओ मोहम्मद अनवर जावेद ने बताया पथराव के दौरान बीच-बचाव करने गए विश्वनाथ को भी चोटें आई थीं। माला देवी के पति विश्वनाथ का दो दिन पहले ही लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया था। वे जगजीवन राम कॉलेज में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थे।
 

Related Stories: