Tiktok पर बैन से कंपनी को रोजाना हो रहा 3.5 करोड़ का नुकसान, 250 लोगों की नौकरियां खतरे में 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): मद्रास हाईकोर्ट के आदेश के बाद भारत में चीन के मशहूर वीडियो एप टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाया गया है। टिकटॉक पर प्रतिबंध लगने के कारण इसकी डेवलपर कंपनी बीजिंग बाइटडांस को रोजाना 5 लाख डॉलर यानी करीब 3.5 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। जिसकी वजह से कंपनी में काम करने वाले 250 से ज्यादा कर्मचारियों की नौकरियां खतरे में पड़ गई है। कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट को यह जानकारी दी है।

Image result for Tiktok पर बैन से  नुकसान

टिकटॉक के लिए यह बड़ा घटनाक्रम इसलिए है क्योंकि भारत इस तरह के एप के लिए विशाल बाजार है। कठोर अदालती फरमान के कारण भारतीय बाजार में बाइटडांस के ग्रोथ प्लान को तगड़ा झटका लगा है। इस महीने की शुरुआत में एक भारतीय अदालत ने केंद्र सरकार को टिकटॉक के डाउनलोड्स प्रतिबंधित करने का आदेश दिया। इस निर्देश के बाद केंद्रीय आईटी मंत्रालय हरकत में आया और एपल इंक व अल्फाबेट के गूगल ने पिछले हफ्ते अपने-अपने भारतीय एप स्टोर से टिकटॉक हटा लिए। 

Image result for Tiktok पर बैन से  नुकसान

पिछले हफ्ते शनिवार को भारत के सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर बाइटडांस ने प्रतिबंध हटाने का आग्रह किया था। कंपनी ने सर्वोच्च अदालत से गुजारिश की थी कि वह आईटी मंत्रालय को निर्देश दे कि वह गूगल और एप्पल जैसी कंपनियों से कहे कि वे अपने-अपने एप स्टोर पर एक बार फिर टिकटॉक उपलब्ध कराएं। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम राहत नहीं दी और मामला वापस तमिलनाडु की अदालत के पास भेज दिया, जहां अगली सुनवाई बुधवार यानी 24 अप्रैल को होनी है। 

Image result for Tiktok पर बैन से  नुकसान

गौर हो कि दुनिया के सबसे लोकप्रिय एप में से एक टिकटॉक यूजर को स्पेशल इफेक्ट्स के साथ शॉर्ट वीडियोज क्रिएट करने और उन्हें शेयर करने की सुविधा देता है।