आंध्र तट पर चक्रवाती तूफान 'फेथई' का खतरा बरकरार, हाई-अलर्ट जारी

विशाखापत्तनम (उत्तम हिन्दू न्यूज): आंध्र प्रदेश के तटीय इलाके में रविवार को हाई-अलर्ट जारी किया गया, क्योंकि बंगाल की खाड़ी में उठा एक चक्रवाती तूफान इसकी ओर बढ़ रहा है। यह चक्रवाती तूफान सोमवार को काकीनाडा और विशाखापत्तनम के बीच के इलाके को पार कर सकता है। राज्य सरकार की रियल टाइम गवर्नेस सोसायटी (आरटीजेएस) ने सभी नौ तटीय जिलों में अलर्ट जारी किया है।

राज्य आपदा मोचन बल (एसआरडीएफ) और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल को तैयार रहने को कहा गया है। तटीय क्षेत्र के हिस्सों, विशेष रूप से कृष्णा जिले में रविवार को बारिश और तेज हवाओं की शुरुआत हो गई है।

मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने तटीय जिलों के कलेक्टरों को जानहानि को रोकने के लिए सभी एहतियात बरतने को कहा है। विशाखापत्तनम चक्रवात चेतावनी केंद्र के मुताबिक, 'फेथई' अगले कुछ घंटों में एक तेज चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा और सोमवार दोपहर बाद जमीन से टकराने के बाद वह धीरे-धीरे हल्का हो जाएगा।

मौसम विभाग ने अधिकतर जगहों पर बारिश और आंध्र प्रदेश व पुडुचेरी के यानम जिले में रविवार व सोमवार को भारी से मूसलाधार बारिश का अनुमान लगाया है। आंध्र प्रदेश और उसके आसपास के क्षेत्र में 45 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। सोमवार को हवा की गति 100 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच सकती है।

चक्रवात चेतावनी केंद्र ने चेतावनी दी है कि भारी तूफान से विशाखापत्तनम के निचले इलाकों व आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी, पश्चिम गोदावरी, कृष्ण व गुंटूर तटीय जिले और पुडुचेरी के यानम जिले में तूफान के दस्तक देने के वक्त एक मीटर तक तूफान उठ सकता है। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

Related Stories: