हिमाचल में कर्फ्यू 14 अप्रैल तक बढ़ा, कार्यालय, शिक्षण संस्थान रहेंगे बंद

शिमला (उत्तम हिन्दू न्यूज)- हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य लाॅकडाउन अवधि 31 मार्च के बाद अब 14 दिन और बढ़ा कर इसे 14 अप्रैल तक कर दिया है तथा इस दौरान कर्फ्यू जारी रहने के साथ ही सभी सरकारी कार्यालय और शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज यहां कोविड-19 से उत्पन्न स्थिति एक समन्वय बैठक में समीक्षा करने के बाद यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सरकार ने लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है तथा सभी पाबंदियां पूर्ववत लागू रहेंगी। इसके तहत प्रदेश में सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक पारिवारिक या अन्य किसी भी प्रकार के सामूहिक कार्यक्रमों पर भी 14 अप्रैल तक पाबंदी रहेगी। साथ ही शिक्षण संस्थान, ब्यूटी पार्लर, हेयर कटिंग सेलून, जिम इत्यादि के साथ-साथ सभी कार्यालयों को भी 14 अप्रैल तक बंद रखने के आदेश जारी किये गये हैं। लेकिन ये निर्देश ऐसे विभागों, फैक्ट्रियों, वर्कशॉप, दुकानों, स्टोरों, वाहनों इत्यादि पर लागू नहीं होगें जोकि आपातकालीन सेवाओं के साथ जुड़े हुए हैं। साथ ही प्रदेश के अंदर और राज्य से बाहर कोई भी सरकारी और निजी वाहन नहीं चलेंगे। केवल आवश्यक सेवा के लिए ही निजी वाहनों को अनुमति लेकर चलने दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री पे कहा कि राज्य मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाएगा, ताकि अन्य राज्यों में फंसे लोगों के साथ समन्वय स्थापित किया जा सके। उन्होंने कहा कि सामान्य प्रशासन के सचिव इस नियंत्रण कक्ष के प्रभारी होंगे और यह 24 घंटे काम करेगा। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में फंसे हिमाचल प्रदेश के लोग कंट्रोल रूम के जरिए संपर्क कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार अन्य राज्यों में फंसे हिमाचल प्रदेश के लोगों तक पहुंचने के लिए सभी प्रयास कर रही है और संबंधित राज्य सरकार के साथ इन हिमाचलियों के बारे में भी बात करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के 17 मुस्लिम दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मस्जिद में मरकज कार्यक्रम में शामिल थे। वे सभी दिल्ली में 14 दिन की निगरानी में हैं और अब तक उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। श्री ठाकुर ने कहा कि आईसीएमआर ने कसौली में कोविड-19 परीक्षण सुविधा प्रदान करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी है जिससे राज्य में परीक्षणों की क्षमता में वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक 3396 व्यक्तियों को कोरोना वायरस की निगरानी में रखा गया है जिनमें से 1168 लोगों ने 28 दिनों की निगरानी अवधि पूरी की है। उन्होंने कहा कि कोविड -19 के लिए 17 व्यक्तियों की जांच आज की गई और सभी नमूने नेगेटिव पाए गए हैं उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के लिए राज्य में अब तक 229 लोगों की जांच की गई और 226 नेगेटिव पाये गये हैं।

उल्लेखनीय है कि कोरोना के कारण पूरे देश में लॉक डाउन किया हुआ है। प्रदेश सरकार ने भी इसी कड़ी में लॉकडाउन और कर्फ्यू लगाया हुआ है। इसके लिए प्रदेश में शिक्षण संस्थानों सहित कार्यालय और अन्य परिवहन आदि बंद है। सरकार ने पहले शिक्षण संस्थानों और कार्यालयों को 31 मार्च तक बंद करने के आदेश दिए थे तथा यह अवधि अब 14 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। प्रदेश में कोरोना के अब तक तीन ही मामले आए हैं तथा गत कई दिनों से कोई नया मामला सामने नहीं आया है। लेकिन सरकार एतिहात के तौर पर सभी कदम उठा रही है।