CRPF DG का दावा : कश्मीर के आतंकवादियों की 'उम्र' घटी, दो साल में 360 आतंकी ढेर

श्रीनगर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : सीआरपीएफ के महानिदेशक राजीव राय भटनागर ने दावा किया है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की उम्र घट गयी है। उन्होंने कहा कि दो साल में ही 360 से ज्यादा आतंकी मारे जा चुके हैं। डीजी भटनागर कहा कि घाटी में आतंकी समूहों से जुडऩे वाले स्थानीय नौजवानों की संख्या का आंकड़ा बढ़ा है लेकिन सुरक्षा बल युवाओं को हथियार उठाने से रोकने के लिए सभी मुमकिन तरीके से उन तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं।

भटनागर ने कहा कि सुरक्षा चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए सीआरपीएफ ने जम्मू कश्मीर में अपने जवानों की सुरक्षा का स्तर बढ़ा दिया है। समूचे शरीर की हिफाजत के लिए बचाव के साधन, बुलेट प्रुफ वाहन, विशेष बख्तरबंद वाहन के जरिए जवान काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, जम्मू-कश्मीर में आतंकी, उनमें से कुछ बाहरी हैं और कुछ दिग्भ्रमित (स्थानीय) युवा हैं, जो आतंकी समूहों से जुड़ रहे हैं। यह मिला-जुला है। संख्या घट-बढ़ सकती है लेकिन अगर आप समय को देखें कि कौन सा आतंकी जम्मू कश्मीर में जिंदा बच रहा है तो संकेत साफ है कि इसका (आतंकियों की भर्ती) कोई असर नहीं है। 

उन्होंने कहा, आतंकियों की उम्र, जिंदा बचने का समय, बहुत कम है। इसलिए (भर्ती हुए आतंकियों) की संख्या भले ज्यादा हो लेकिन परिणाम सीमित है। उनसे पूछा गया था कि आतंकी समूहों द्वारा स्थानीय कश्मीरी युवकों की भर्ती क्या बढ़ रही है और क्या यह चिंता का कारण है। देश के सबसे बड़े अद्र्धसैन्य बल के प्रमुख ने कहा कि युवक इसमें (आतंकी संगठन में) जा रहे हैं क्योंकि इसको लेकर थोड़ा आकर्षण है लेकिन उन्हें समझना होगा उन्हें कोई नतीजा नहीं मिलने वाला। 
 

Related Stories: